Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सोनिया गांधी बोली- कुछ लोग देश में भय का माहौल फैलाकर कर रहे शासन, हमें उनसे रहना होगा सावधान, यही होगी गांधी जी को सच्ची श्रद्धांजलि

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज बिहार के चंपारण में वर्चुअल माध्यम से महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण किया। इस मौके पर सोनिया गांधी ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला भी बोला।

सोनिया गांधी ने बेरमो विधानसभा सीट के लिए प्रत्याशी का किया ऐलान, राजेंद्र सिंह के बेटे को मिला मौका
X
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी

कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर बिहार के चंपारण में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से गांधी जी की प्रतिमा का अनावरण किया। इस दौरान सोनिया गांधी ने चंपारण की धरती को नमन किया। सोनिया गांधी ने कहा कि मेरे प्यारे भाइयों और बहनों इसी जगह से मोहनदास करमचन्द गांधी ने एक गौरवशाली शुरुआत की थी। महात्मा गांधी ने यहां की जनता, बेसहारा किसानों और गरीबों को अंग्रेजों के शोषण से मुक्ति दिलवाई। इसी चंपारण के सत्याग्रह से प्रभावित होकर गुरु रविंद्र नाथ टगौर ने उनको महात्मा की उपाधि दी। उसके बाद गांधी जी मानव से माहन मानव बन गये और फिर वे भारत ही नहीं, बल्कि विश्वभर की मानव जाति का कल्याण करने लगे। सोनिया गांधी ने बताया कि महात्मा गांधी ने बिहार की गरीबी और चिंताजनक स्थिति से ही प्रभावित होकर एक फकीर का जीवन अपनाया। कांग्रेस अध्यक्ष ने बताया कि महात्मा गांधी ने गरीबों, महिलाओं और दलितों को शिक्षित करने का वीणा उठाया था। सोनिया गांधी ने महात्मा गांधी की प्रतिमा अनावरण के अवसर पर सभी वर्गों और समुदायों के स्वतंत्रता सेनानियों के त्याग और बलिदान को याद किया। साथ ही उन्हें नमन भी किया। सोनिया गांधी ने इस मौके पर भारत के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादूर शात्री को भी याद किया व नमन किया। उन्होंने बताया कि आज पूर्व पीएम लाल बहादूर शात्री की भी जयंती हम मना रहे हैं। सोनिया गांधी ने कहा कि उन्होंने ही 'जय जवान जय किसान' का नारा दिया। सोनिया गांधी ने कहा कि उनका यह नारा हमको कठिन समय में पहले से भी ज्यादा प्रेरणा देता है।



सोनिया गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी तो महात्मा गांधी के विचारों की आत्मा की पार्टी है। सोनिया गांधी ने कहा कि उनके लिये तो प्रगति का अर्थ मनुष्य का समग्र विकास था। ना कि चंद लोगों के विकास से था। उनका विकास का मतलब, गरीब के विकास से था। ना कि चंद लोगों के विकास से था। सोनिया गांधी ने कहा कि जैसे चंपारण में नील की खेती से कुछ लोग माला-माल हो रहे थे। किसान गरीबी और भुखमरी का शिकार हो रहे थे। यह महात्मा गांधी की निगाह में घोर पाप था।

सोनिया गांधी ने कहा कि इसी वजह से कांग्रेस पार्टी की योजनायें गरीब लोगों के कल्याण के लिये बनती हैं। वहीं कुछ शक्तियां अपने निजी स्वार्थ के लिये उसके विरोध में खड़ी हो जाती हैं। आप तो जानते हैं कि जब कांग्रेस देश में से बेरोजगारी को दूर करने के लिये मनरेगा योजना लाई थी तो इनके द्वारा उसका मजाक उड़ाया गया था। सोनिया गांधी ने कहा कि आज मनरेगा योजना नहीं होती तो कोरोना महामारी के दौर में लाखों लोग भूखमरी का शिकार बन गये होते।

सोनिया गांधी ने कहा कि आप तो देख और समझ रहे हैं कि आज देश में ऐसी नीतियां चल रही हैं। जिससे चंपारण की नील की खेती की तरह ही चंद लोग माला-माल हो रहे हैं। उनके लिये तो विकास की आंधी आ गई है। दूसरी ओर देश के लाखों लोगों का रोजगार छीना जा रहा है। लाखों-लाख छोटे और कूटीर उद्योग बंद हो रहे हैं। आप तो जानते हैं कांग्रेस के समय में ज्यादा रोजगार देने वाले जो क्षेत्र थे। उनका आज निजीकरण किया जा रहा है। नये रोजगार की बात तो छोड़ ही दीजिये। जिनके पास पहले से रोजगार थे, उनके सामने भी समस्यायें आ रही हैं।

सोनिया गांधी ने कहा कि महात्मा गांधी के लिये सत्य ही ईश्वर था। कांग्रेस पार्टी ने भी सदा सत्य को ही अपनाया है। उन्होंने कहा कि यूपीए की सरकार में जिस भी कर्मचारी या सरकार से जुड़े व्यक्ति पर भ्रष्टाचार से संबंधित संदेह होने पर उसे तुरंत बाहर का रास्ता दिखाया जाता था। वहीं सोनिया गांधी ने केंद्र की वर्तमान सरकार पर आरटीआई, महिला सशक्तिकरण, महिला सुरक्षा, रोजगार और गरीबों के कल्याण के लिये बने कानूनों को कमजोर कर देने का आरोप लगाया है। सोनिया गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी की सरकार ने गरीबों के अधिकारों पर आघात किया है।

सोनिया गांधी ने कहा कि महात्मा गांधी अहिंसा के पुजारी थे। उनकी निगाह में कतार में खड़ा समाज का अंतिम व्यक्ति होता था, वांचित व्यक्ति होता था। वे सभी को समान नजर से देखते थे। सोनिया गांधी ने कहा कि पर आज कुछ लोग महात्मा गांधी का नाम लेते तो बहुत जोर-शोर से हैं। लेकिन उन्होंने अपने कार्यों से महात्मा गांधी के आदर्शों और उसूलों को चूर-चूर कर दिया है। सोनिया गांधी ने कहा कि आप तो स्वयं देखते हैं कि चारो ओर हिंसा, दुराचार, गरीबों के खिलाफ जानबूझकर अत्याचार का माहौल पैदा किया जा रहा है।

सोनिया गांधी ने इस मौके पर लोगों से अपील की कि मैं सिर्फ इतना कहना चाहती हूं कि कुछ लोग भावना, भ्रम और भय का माहौल फैलाकर सरकार चला रहे हैं। आप सभी बहनों और भाइयों को इनसे सावधान और सतर्क रहना होगा। यही महात्मा गांधी की जयंती पर आप लोगों की ओर से उनको सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

Next Story