Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बेटा-बेटी और बहू ने पिता को मार डाला, पुलिस ने 9 दिनों बाद घर में दफन शव को खुदवाकर किया बरामद

बिहार के पूर्णिया जिले में बेटा-बेटी और बहू ने मिलकर अपने ही पिता की हत्या कर दी। बाद में शव को घर के अंदर ही दफन कर दिया। वहीं पुलिस नौ दिनों बाद घर में दफन शव को खुदवाकर बरामद किया। वहीं पुलिस मामले में आगे की कार्रवाई में भी जुट गई है।

Delhi Murder: पत्नी और सास ने मिलकर पति की हत्या का बनाया था खतरनाक प्लान, पुलिस ने टैटू से ऐसे खोला पोल
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) के पूर्णिया (Purnia) जिले से रिश्तों को भरोसा उठाकर रख देने वाली खबर सामने आई है। यहां जमीन की खातिर सगे बेटे-बेटी और बहू मिलकर पिता की हत्या (father murder) कर दी है। पुलिस जानकारी के अनुसार बेटा (SON), बेटी (Daughter) और बहू (Daughter in law) ने मिलकर गला दबाकर अपने ही पिता को मौत के घाट उतार दिया है। वारदात को अंजाम देने के बाद उन्होंने लाश को घर में ही दफन कर दिया। पुलिस (Police) ने मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में शनिवार को यानी कि 9 दिन बाद जलावन घर से खोदकर शव को बाहर निकालवा। पुलिस ने आरोपी बेटा, बेटी और बहू को हत्या के आरोप में अरेस्ट कर लिया है। यह सनसनीखेज हत्या मामला पूर्णिया जिले के कस्बा थाना इलाके स्थित मथौर गांव से सामने आया है। यहीं के रहने वाले मोहम्मद नईमुद्दीन की गला दबाकर हत्या कर दी गई। वहीं इनके शव को जलावन घर पूर्णिया में दफन कर दिया गया।

मामले की जानकारी मिलने पर शनिवार को कस्बा थाना प्रभारी अमित कुमार भारी पुलिस बल और मजिस्ट्रेट के साथ नईमुद्दीन के घर पहुंचे। साथ ही जलावन घर में दफन शव खोदकर बाहर निकाला और बरामद कर लिया। मृतक नईमुद्दीन की दूसरी पत्नी इशरत खातून का कहना है कि उनके पति नईमुद्दीन ने 2 विवाह किए थे। साथ ही इशरत खातून ने आरोप लगाया कि पति की पहली पत्नी के बेटे मुजस्सिम, वसीम व उनकी पत्नियां नर्गिस खातून, आशिया खातून और बेटी नासरी खातून ने मिलकर उनके पति की गला दबाकर हत्या कर दी। बाद में इन लोगों ने उनके शव को जलावन घर में ही दफन कर दिया। पत्नी ने आरोप लगाया कि 10 कट्ठा भूमि को लेकर बेटे, बेटी और बहू ने मिलकर उनके पति की हत्या की है।

जमीन विवाद को लेकर गांव पंचायती भी बैठी थी

इशरत खातून के भाई नियाजुद्दीन ने बताया कि भूमि विवाद को गांव में पंचायती भी बैठी थी। उनके जीजा नईमुद्दीन अपनी दूसरी पत्नी की बेटे को 10 कट्ठा भूमि की रजिस्ट्री करने वाले थे। इस बात से गुस्से में आकर पहली पत्नी से बेटा, बेटी और बहूओं ने मिलकर उनके जीजा की हत्या कर दी। साथ इन लोगों ने उनकी लाश को भी छिपा दिया। बीते शुक्रवार को यानी कि नौ दिनों पहले नईमुद्दीन की हत्या की गई थी। मथौर के सरपंच पति नसीम अख्तर ने बताया कि जमीन को लेकर सौतेले भाई बहनों के बीच हमेशा झगड़ा होता रहता था। मामले को लेकर गांव में पंचायत भी बैठी थी। पंचायत ने सभी विवादों का हल भी कर दिया था। पर सूचना मिली कि नईमुद्दीन बीते करीब 10 दिनों से लापता हैं। वहीं आज सूचना मिली कि उनके बेटा, बेटी बहूओं ने ही मिलकर उनको मौत के घाट उतार दिया।

Next Story