Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बहन रोहिणी आचार्य ने भाई तेज प्रताप यादव को जगदानंद सिंह मामले पर दिखाया आईना

बिहार की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी राजद में एक बार फिर से आंतरिक कलह उभरता हुआ दिखाई दे रहा है। कल जहां लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने पार्टी नेता जगदानंद सिंह के खिालाफ निशाना साधा था। वहीं आज बहन रोहिणी आचार्य ने तेजप्रताप को बड़ा झटका दे दिया है।

बहन रोहिणी आचार्य ने भाई तेज प्रताप यादव को जगदानंद सिंह मामले पर दिखाया आईना
X

रोहाणी 

बिहार (Bihar) राजद (RJD) प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह का पार्टी में खुलकर विरोध करने के मुद्दे पर तेज प्रताप यादव को उनकी अपनी बहन रोहिणी आचार्य ने ही बड़ा झटका दे डाला है। रोहिणी के इस ट्वीट से राष्ट्रीय जनता दल एवं लालू यादव के परिवार में एक बार फिर मतभेद उभरने के संकेत मिल रहे हैं। रोहिणी आचार्य खुलकर राजद जगदानंद सिंह के समर्थन में आई है। रोहिणी आचार्य के अलावा तेजस्वी यादव पूर्व से ही जगदानंद सिंह के पक्ष में रहे हैं।

लालू प्रसाद यादव के बिहार की राजधानी पटना पहुंचने पर बेटी रोहिणी आचार्य ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए जगदानंद सिंह पर भरोसा जाहिर किया है। वहीं रविवार की शाम को तेज प्रताप यादव ने एक बार फिर पार्टी दिग्गज नेता जगदानंद सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। तेजप्रताप यादव पूर्व से ही जगदानंद सिंह को पार्टी से हटाने के लिए बड़े-बड़े बयान दे चुके हैं। रविवार की शाम को वह धरने पर बैठ गए थे और तेज प्रताप यादव ने कहा था कि जगदानंद सिंह ने उन्हें घर में जाने नहीं दिया। मामला बढऩे पर स्वयं लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी को तेज प्रताप के पास पहुंचे और धरना समाप्त कराया।

दू्रसरी ओर बहन रोहिणी आचार्य ने अपने ट्विटर पर एक तस्वीर ट्विटर पर शेयर की है। जिसमें जगदानंद सिंह और लालू यादव को सुख और दुख का साथी करार दिया गया है। इस फोटों में उनके पिता लालू यादव व्हीलचेयर पर बैठे नजर आ रहे हैं व पास में जगदानंद सिंह खड़े नजर आ रहे हैं। इस फोटो के कैप्शन में रोहिणी आचार्य द्वारा लिखा गया है कि ये दोनों सुख दुख के साथी हैं। इससे सिद्ध होता है कि जगदानंद सिंह को पार्टी से निकाले जाने की जंग में रोहिणी आचार्य तेज प्रताप के साथ नहीं है व रोहिणी ने खुलकर अपनी मनसा जता दिये हैं।

जगदानंद सिंह को लेकर राष्ट्रीय जनता दल में तेजप्रताप यादव व तेजस्वी यादव के बीच पहले से ही कलह है। मां राबड़ी देवी इसे संभालने की कोशिश करने में जुटे हुए हैं। पूर्व में तेजस्वी यादव की शह पर जगदानंद सिंह ये भी कह चुके हैं कि 'हु इज तेजप्रतापÓ। शिवानंद तिवारी भी पार्टी में तेजप्रताप यादव को नकारने वाली टिप्पणी कर चुके हैं।

और पढ़ें
Next Story