Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

फिल्मों में हीरो बनने के लिए घर से मुंबई के लिए निकल गया 7वीं का छात्र, रास्ते में ही परिवार ने कतर दिये पंख, जानें कैसे

बिहार के सहरसा जिले से संबंधित एक बड़ा ही अजब-गजब मामला सामने आया है। यहीं का रहने वाला एक नाबालिग लड़का फिल्मी चकाचौंध पर ऐसे आकर्षित हुआ कि वो कई जरूरी सामान अपने साथ लेकर ट्रेन में बैठकर मुंबई के लिए रवाना हो लिया।

seventh class student going for mumbai become hero by running away from home to Sarhasa RPF caught boy in Patna
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) के सहरसा (Sarhasa) जिले से जुड़ा हुआ एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। सहरसा जिले का निवासी सातवीं कक्षा का एक छात्र (seventh grade student) फिल्मों की रंगीन दुनिया की चकाचौंध से प्रभावित होकर घर से भागकर मुंबई (Mumbai) जाने के लिए निकल लिया, लेकिन इससे पहले कि वो लड़का मुंबई में पहुंच पाता, बिहार की राजधानी पटना (Patna) में ही उस लड़के के सपनों के पंख कतर दिए गये।

जानकारी के अनुसार, सातवीं कक्षा का ये छात्र सहरसा जिले का रहने वाला है। जिसका नाम अंकित राज है। जो सहरसा से लोकमान्‍य तिलक एक्‍सप्रेस में एसी थर्ड बोगी में आराक्षण कराकर मुंबई के लिए जा रहा था। इस बीच ट्रेन पटना के पाटलीपुत्र स्टेशन (Patliputra Station) पर ही पहुंची। यहां पर आरपीएफ (RPF) द्वारा ट्रेन की जांच की जा रही थी। इस बीच ट्रेन की थर्ड एसी बोगी में एक लड़के को अकेला बैठा देख आरपीएफ जवानों ने पूछताछ करनी शुरू कर दी। पूछताछ में लड़के ने अपना नाम अमृत राज बताया और कहा कि मुंबई जा रहा हूं। साथ ही लड़के ने बताया कि उसको हीरो बनना है।

नादान उम्र में ऐसी बातें सुनकर आरपीएफ कर्मी हैरात तो हुए ही साथ ही उनको शक भी हुआ। आरपीएफ के जवानों ने तुरंत ही लड़के को पकड़ लिया। साथ ही उसकी तलाशी ली। इस दौरान लड़के के कब्जे से 20 हजार नगद और एक लैपटॉप बरामद हुआ। आरपीएफ की ओर से इस पूरे मामले की जानकारी लड़के के परिजनों को दी गई। साथ ही मुंबई जाने वाली ट्रेन के उस लड़के के टिकट को भी रद्द करा दिया गया। आरपीएफ की इस कार्रवाई के बाद से मासूम छात्र मायूस व उदास हो गया।

लड़का घर की अलमारी में रखे रुपयों को लेकर निकला था मुंबई

मामले के संबंध में आरपीएफ इंस्पेक्टर पीके वर्णवाल ने बताया कि पकड़ में आया छात्र अंकित राज सहरसा के वार्ड संख्या-नौ, नया बाजार का निवासी है। उसके पिता मुकेश कुमार झा को जानकारी दे दी गई है। अंकित सहरसा के संत जार्ज हाईस्कूल में कक्षा सात में पढ़ता है। पूछताछ में उसने बताया कि आलमारी में मां के पैसे रखे थे, उन्हीं पैसों को लेकर वो हीरो बनने के लिए जा रहा था। वर्णवाल के अनुसार लड़के के पिता सहरसा से पटना के लिए रवाना हो चुके हैं।

Next Story