Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रक्षक से भक्षक बने थाना प्रभारी ने बच्ची के साथ की अश्लील हरकत, मां ने ग्रामीणों संग मिलकर पीटा तो एसपी ने उठाया ये बड़ा कदम

बिहार के कटिहार जिले से शर्मनाक घटना सामने आई है। क्योंकि यहां एससी-एसटी थाना प्रभारी कृत्‍यानंद पासवान पर एक बच्‍ची के साथ गंदी हरकत करने का आरोप लगा है। इस आक्रोशित लोगों ने पुलिसकर्मी को बंधक बनाकर जमकर पीटा।

SC ST station in charge Krytanand Paswan suspended and arrested for doing obscene acts with girl in Katihar bihar crime news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) के कटिहार (Katihar) जिले से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। वैसे तो पुलिस (Police) रक्षक मानी जाती है, लेकिन यहां रक्षक ही भक्षक बन गया। वहीं मामला संज्ञान में आने पर एसपी ने आरोपी पुलिसकर्मी को सस्पेंड (Suspend the accused policeman) कर दिया है। इसकी वजह थाना प्रभारी पर बच्ची के साथ अश्लील हरकत करने का आरोप लगा है। इतना ही नहीं ग्रामीणों ने थाना प्रभारी को बंधक बनाकर जमकर पिटाई की।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कटिहार में एससी-एसटी थाना प्रभारी कृत्‍यानंद पासवान को लोगों द्वारा बंधक बनाए जाने के बाद जमकर पीटा गया। बताया गया है कि सहायक थाना इलाके स्थित बुद्धू चौक मोहल्ले में आरोपी थाना प्रभारी कृत्‍यानंद पासवान एक बच्ची के साथ गंदी हरकत कर रहे थे। जहां से किसी तरह से बच्‍ची उनके चंगुल से छूटकर भाग आई। फिर बच्ची ने मामले की जानकारी अपने माता-पिता को दी। जब बच्‍ची की मां ने बेटी के साथ हुई घटना का विरोध जताया तो आरोपी थाना प्रभारी कृत्‍यानंद पासवान द्वारा महिला के साथ भी बदतमीजी की गई। यह देखते ही स्‍थानीय लोग भड़क उठे।

ग्रामीणों ने थाना प्रभारी को बनाया बंधक

ग्रामीणों ने थाना प्रभारी को बंधक बनाया। मौके से थाना प्रभारी कृत्‍यानंद पासवान को मुक्त कराने के लिए सहायक थाना पुलिस भी पहुंचे। इस दौरान आक्रोशित लोगों ने पुलिस वाहन को घेर कर जमकर विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। अंत में पुलिस किसी तरह से एससी-एसटी थाना प्रभारी कृत्‍यानंद पासवान को लोगों के कब्जे से मुक्त करने में सफल हुई। वहीं मामले से गुस्साए लोगों ने आरोपी पुलिसकर्मी के खिलाफ कड़ा एक्शन लिये जाने की मांग की है।

मां ने थानेदार पर लगाया बेटी के साथ अश्लीलता करने का आरोप

नाबालिग लड़की की मां ने थाना प्रभारी कृत्‍यानंद पासवान पासवान पर सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। मां ने कहा है कि उनकी बेटी अपनी नानी के पास से अकेले घर आ रही थी। उस दौरान शराब के नशे में कई लोग घूम रहे थे। इनमें थाना प्रभारी भी शामिल थे। साहब ने बच्‍ची को रोक और उनका नाम पूछा। फिर साहब ने पूछा कि असगर को जानती है। इसपर बच्‍ची ने हां में उत्तर दिया। फिर आरोपी ने पूछा कि वह तुम्‍हारा कौन लगता है। इसपर बच्ची ने कहा की मामा। यह सुनते ही आरोपी ने कहा कि इसलिए तो तुम मेरी ही भी भांजी हो। साथ ही बच्‍ची को उन्होंने अपनी गोद में उठा लिया। बच्ची को 2 रुपये भी दिए। बच्‍ची ने रुपये नहीं लिए। इसपर आरोपी ने सवाल किया कि कितने पैसे लेगी, 50 या 100 रुपये। आगे मां ने आरोप लगाया कि इसके बाद आरोपी ने बच्‍ची काे किस लिया। फिर आरोपी मासूम बच्ची को पास स्थित जंगल में लेकर चला गया। वहां आरोपी ने मासूम बच्ची के साथ अश्‍लील हरकत की। जहां मासूम बच्‍ची किसी तरह आरोपी के चंगुल से छूट पाने में कामयाब हुई और भागकर अपने घर पहुंची। यहां उसने अपनी आपबीती परिजनों को सुनाई।

आरोपी पुलिस अधिकारी पर दो अलग-अलग मामले हुए दर्ज

जानकारी के अनुसार नाबालिग बच्ची के साथ छेड़छाड़ (child molesting) करने के आरोप में एससी-एसटी थानाध्यक्ष को अरेस्ट कर लिया गया है। आरोपी पर सहायक थाना में दो अलग-अलग मामले दर्ज हुए हैं। मेडिकल जांच में थाना अध्यक्ष द्वारा शराब पीने की पुष्टि हुई है। मामले पर एक्शन लेते हुए एसपी ने उन्हें तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है। गांव वालों ने गुरुवार देर रात सहायक थाना इलाके स्थित एक मोहल्ले में थाना अध्यक्ष द्वारा शराब पीकर नाबालिग संग छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया था।

Next Story