Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

7 वीं की छात्रा गर्भवती हुई तो शिक्षक ने खिला दी गर्भपात की दवा और फिर...

बिहार के सहरसा जिले से गुरु-शिष्य के रिश्ते को शर्मसार कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां शिक्षक सातवीं कक्षा की नाबालिग छात्रा के साथ 1 साल से लगातार दुष्कर्म कर रहा था। छात्रा के गर्भवती हो जाने के बाद शिक्षक की काली करतूतों की पोल खुली।

Saharsa crime: Teacher rape class 7 student feeding abortion medicine after became pregnant hindi news
X

सहरसा रेप (प्रतीकात्मक तस्वीर)

बिहार के सहरसा (Sarhasa) जिले से गुरु-शिष्य के पवित्र रिश्ते को शर्मसार (Shamed) कर देने का मामला सामने आया है। यहां एक निजी शिक्षक एवं सह कोचिंग संचालक 15 वर्षीय छात्रा (15 Year Old student) के साथ करीब 1 साल से लगातार दुष्कर्म (Rape) कर रहा था। इसी क्रम में नाबालिग छात्रा गर्भवती (Minor Schoolgirl Pregnant) हो गई। इसके बाद किसी मेडिकल स्टोर से गर्भ गिराने की दवा खरीदकर आरोपी शिक्षक ने नाबालिग छात्रा को खिला दी। गर्भपात की दवा (Abortion Medicine) खाने के बाद ही नाबालिग छात्रा की तबीयत बिगड़ गई। इसके बाद शिक्षक की पोल खुल गई। पीड़ित लड़की को ईलाज के लिए सहरसा सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं पुलिस ने पीड़ित छात्रा के बयान ले लिया और आरोपी शिक्षक (Accused teacher) को दबोच लिया है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सहरसा के सौर बाजार थाना इलाके की नाबालिग छात्रा बीते दिन सदर अस्पताल में भर्ती हुई। यहीं महिला अधिकारी प्रेमलता भूपाश्री के समक्ष दिए बयान में पीड़ित छात्रा ने शिक्षक की काली करतूतों की पोल खोल दी। जानकारियों के अनुसार पीड़ित छात्रा कक्षा सात में पढ़ती है। छात्रा गांव में ही करीब एक वर्ष पहले एक कोचिंग सेंटर पर ट्यूशन पढ़ने लग गई। जो गांव के रामू यादव के दरवाजे पर कोचिंग सेंटर चलता था। ट्यूशन समाप्त होने के बाद सुबलेश यादव नामक शिक्षक उसे एक कमरे में ले जाता था। जहां वो उसके साथ मारपीट कर जबरन दुष्कर्म किया करता था।

छात्रा के अनुसार शिक्षक ने मारपीट की धमकी देकर किसी से इस बात का खुलसा नहीं करने को कहा था। वहीं रोज ट्यूशन कक्षा समाप्त होने के बाद शिक्षक छात्रा को अपनी हवस की शिकार बनाता रहा। इस बीच सात वीं की छात्रा को माहवारी आनी बंद हो गई। इस बात को छात्रा से शिक्षक को बताया। इस शिक्षक ने बाजार से कोई गर्भपात की दवा खरीद कर छात्रा को खरीद कर दे दी। छात्रा ने शिक्षक के बताए अनुसार उक्त दवा का सेवन कर लिया। इसके तुरंत बाद ही नाबालिग की तबीयत बिगड़ गई। दवा खाने के बाद छत्रा को बहुत ज्यादा रक्तस्त्राव हुआ, जिसकी भनक छात्रा के परिजनों को लग गई।

जब पीड़ित छात्रा के परिजन इस मामले की शिकायत को लेकर आरोपियों के पास पहुंचे। इस पर आरोपी सुबलेश यादव और उसके पिता रामू यादव समेत दुर्बल यादव, मुन्ना यादव ने मिलकर पीड़िता के परिजनों से मीरपीट की और उन्हें वहां से भगा दिया। पुलिस ने पीड़ितों की शिकायत पर मामला दर्ज कर आरोपी शिक्षक को अरेस्ट कर लिया है। पुलिस जानकारी के मुताबिक इस मामले को लेकर करीब 6 महीनों पहले भी पंचायत हुई थी। लेकिन इस मसले का कोई समाधान दोनों पक्षों में कोई नहीं निकाल सका था।

Next Story