Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 : राजद नेता ने सुशील मोदी को बोले अपशब्द, कहा 'उस गुंडी के भाई पर कौन भरोसा करेगा'

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 : राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा है कि बिहार में हमारी सरकार बनती तो 10 लाख नौकरियां दी जायेंगी। वहीं भाजपा नेता सुशील मोदी ने कहा कि इनका बिहार की जनता भरोसा नहीं करेगी। इस कड़ी में अब राजद नेता अनिल कुमार साधु भी मैदान में आ गये हैं। साधु ने सुशील मोदी को ट्विटर पर अपशब्द लिखते हुये कहा कि 'उस गुंडी के भाई पर कौन भरोसा करेगा'?

rjd leader anil kumar sadhu used abusive words on sushil modi
X
राजद नेता अनिल कुमार साधु ने सुशील मोदी के खिलाफ किया अपशब्दों का इस्तेमाल।

बिहार में विधानसभा के चुनावों की तारीखों का ऐलान हो चुका है। वहीं सूबे में सियासी पार्टियां भी जनता को अपनी ओर लुभाने के लिये नये-नये वादे और घोषणायें करती हुई नजर आ रही हैं। इसके अलावा सूबे में नेता भी एक - दूसरे के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल करने से बाज नहीं आ रहे हैं। इस कड़ी में राजद के प्रदेश एससी/एसटी प्रकोष्ठ अध्यक्ष अनिल कुमार साधु ने बिहार के डिप्टी सीएम एवं भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी के खिलाफ ट्वीट के माध्यम से अपशब्दों का इस्तेमाल किया है। अनिल साधु ने सुशील मोदी के खिलाफ लिखा कि जिसकी बहन दो बोरी चावल के लिए पुलिस थाने से लेकर मुहल्ले में बवाल मचा देती है। वे वहीं नहीं रुके आगे अनिल ने लिखा कि जिसकी बहन सृजन के घोटाले बाजों से हीरे का हार गिफ्ट लेती है। उस गुंडी के भाई पर कौन भरोसा करेगा!



बिहार के डिप्टी सीएम एवं भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने इससे पहले ट्वीट के जरिये राजद नेता तेजस्वी यादव की घोषणाओं पर सवाल उठाये। सुशील मोदी ने लिखा कि जो बिना जमीन लिखवाये चपरासी तक की नौकरी नहीं देते थे। उनके राजनीतिक वारिस यदि सरकार बनने पर पहली कैबिनेट में 10 लाख लोगों को नौकरी देने का फैसला करने का वादा कर रहे हैं, तो इनकी बात पर कौन भरोसा करेगा?

आपको बता दें कल राजद नेता एवं लालू यादव के बेटा तेजस्वी यादव ने बिहार विधानसभा के चुनावों को लेकर प्रेस कांफ्रेंस आयोजित की थी। जिसमें उन्होंने रोजगार और सूबे आये दिन बढ़ रही दुष्कर्म की घटनाओं समेत विभिन्न मुद्दों को लेकर एनडीए सरकार को घेरा था। वहीं तेजस्वी यादव ने युवाओं से वादा किया कि अगर बिहार में हमारी सरकार बनेगी तो वे पहली कैबिनेट बैठक में 10 लाख नौकरियां निकाने का फैसला लेंगे।

Next Story