Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राजद बिहार विधानसभा मार्च के दौरान उपद्रव, तेजस्वी यादव और तेज प्रताप हिरासत में लिए गए- देखें वीडियो

क्राइम, बेरोजगारी, महंगाई एवं अशिक्षा समेत तमाम मुद्दों के खिलाफ में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनता दल के कार्यकर्ताओं द्वारा मंगलवार को निकाले गए बिहार विधानसभा मार्च के दौरान पटना में जमकर हंगामा हुआ।

RJD Bihar Vidhan Sabha Protest Tej Pratap and Tejashwi yadav taken into custody for protesting without Permission
X

पटना: राजद बिहार विधानसभा मार्च।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव (Leader of Opposition Tejashwi Yadav) के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनता दल के कार्यकर्ताओं (Rashtriya Janata Dal workers) ने मंगलवार को बेरोजगारी (Unemployment) समेत विभिन्न मुद्दों को लेकर बिहार विधानसभा पर मार्च (Bihar Legislative March) निकाला। बताया जा रहा है कि ये पार्टी कार्यकर्ता बेरोजगारी (Unemployment), अपराध (crime), महंगाई (Dearness) एवं अशिक्षा (Illiteracy) समेत विभिन्न मुद्दों पर अवाज बुलंद कर रहे थे, इस दौरान पटना (Patna) स्थित बिहार विधानसभा पर जमकर उपद्रव हुआ। पटना जिला प्रशासन की ओर से कोरोना वायरस (Corona virus) के एक बार फिर से बढ़ते प्रभाव को देखते हुए निवेदन किया गया था कि विधानसभा मार्च और विधानसभा के घेराव का इरादा छोड़कर राजद गर्दनीबाग में अपना धरना दे। इस सब के बाद भी नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव की अपील पर बड़ी संख्‍या में पार्टी कार्यकर्ता सड़क पर मंगलवार को उतरे। पटना पुलिस ने राजद कार्यकर्ताओं को रोका तो पटना का डाकबंगला चौराहा रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। राजद कार्यकर्ताओ के खिलाफ पटना पुलिस ने पहले तो वाटर कैनन का इस्‍तेमाल किया। इससे बात नहीं बनी तो राजद नेताओं पर लाठियां भी भांजी गईं। इस हंगामे के दौरान विशेष बात ये रही कि राजद नेताओं ने अपनी पार्टी के झंडे की लाठियों से पुलिस कर्मियों की पिटाई की। जानकारी ये है कि इस उपद्रव के दौरान कई मीडिया कर्मियों को भी चोटें आईं है।

जानकारी के अनुसार नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव व उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव भी अपने कई विधायकों के साथ विधानसभा मार्च में शामिल होने के लिए गांधी मैदान के पास जेपी गोलंबर पहुंचे हुए थे। लेकिन पटना डाकबंगला चौराहे पर हो रहे हंगामा के दौरान तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव दोनों वहां नहीं पहुंच सके थे। तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव दोनों नेता जेपी गोलंबर से आगे बढ़ते हुए जब डाकबंगला चौराहा तक पहुंचे तो वहां दो राउंड पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प के बाद मामला कुछ हद तक शांत हो गया था। वहीं बताया जा रहा है कि दोनों नेताओं ने डाकबंगला चौराहा पहुंचने के बाद स्थितियों पर काबू पाने का भी प्रयास किया।

उपद्रव काबू में आ जाने के बाद पटना पुलिस के अफसरों ने राजद नेता तेजस्‍वी यादव और तेज प्रताप यादव से इस आंदोलन खत्‍म करने की अपील की। इसके बाद तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव दोनों नेता पटना पुलिस की बस में जाकर सवार हो गए। वहीं राजद के विभिन्न कार्यकर्ता अपने दोनों नेताओं को पुलिस के साथ नहीं जाने देने की जिद पर अड़ गए, साथ ही वो सभी पुलिस की बस को घेरकर खड़े हो गए। जब दोनों नेताओं ने पार्टी कार्यकर्ताओं को समझाया, इसके बाद कार्यकर्ता शांत हुए। इसके बाद पुलिस तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव को पटना के गांधी मैदान की ओर लेकर रवाना हो गई। मामले पर पटना पुलिस का कहना है कि जरूरी कानूनी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव को छोड़ दिया जाएगा।

Next Story