Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Panchayat Election: जीत का जश्न मना रही थीं जिला पार्षद मोना, पुलिस ने समर्थकों समेत किया अरेस्ट, जानें पूरा मामला

बिहार के बांका जिले में पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई पर हर किसी की निगाह जा रही है। जाए भी क्यों नहीं, क्योंकि जिला पार्षद का चुनाव जीतने के कुछ ही देर तक जश्न मना पाई मोना मिश्रा को पुलिस ने जो गिरफ्तार कर लिया है। मोना मिश्रा के खिलाफ यह कार्रवाई अचार संहिता उल्लंघन मामले को लेकर की गई है।

दिल्ली में
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार पंचायत चुनाव (Bihar Panchayat Election) के दूसरे फेज का रिजल्ट (Result) आते ही प्रदेश की अलग-अलग जगहों से हैरान करने वाली खबरें (shocking news) सामने आ रही हैं। ऐसा ही एक अजब-गजब मामला बिहार (Bihar) में बांका (Banka) जिले से सामने आया है। यहां चुनाव रिजल्ट (election result) आते ही विजयी घोषित होने के बाद कुछ देर बाद ही जिला पार्षद को अरेस्ट कर लिया गया।

जानकारी के अनुसार दूसरे फेज के रिजल्ट में पहली बार विजयी घोषित हुई नवनिर्वाचित जिला पार्षद मोना मिश्रा व उनके समर्थकों की कुछ क्षणों का जश्न उस वक्त दिक्कत में परिवर्तित हो गया कि जब विजयी जुलूस निकालते वक्त नवनिर्वाचित जिला पार्षद मोना मिश्रा, उनके पति रवि मिश्रा और तीन महिला समर्थकों को अरेस्ट कर लिया गया। बताया जा रहा है कि मोना मिश्रा जीत के जश्न में विजयी जुलूस के साथ समुखिया स्थित अपने घर जा रही थीं। इस बीच अचार संहिता उल्लंघन के आरोप में मोना मिश्रा व उनके समर्थकों को अरेस्ट कर लिया गया। इस दौरान पुलिस (Police) ने मोना मिश्रा की गाड़ियों को भी जब्त कर बांका थाने लेकर आया गया।

जिस वक्त ये सभी लोग जुलूस के साथ अपने घर वापस आ रहे थे। इसी दौरान बांका-अमरपुर मैन मार्ग स्थित गरनिया के निकट सड़क पर जाम लग गया। इस बीच बांका से पुलिस लाइन वापस आ रही एक पुलिस गाड़ी भीड़ की वजह से असंतुलित होकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई। इस हादसे में दो पुलिसवाले गंभीर रूप से चोटिल हो गए। पुलिस के जानकारी के मुताबिक जुलूस में आचार संहिता का उल्लंघन करने पर मोना मिश्रा की कार व उनके समर्थकों के वाहनों को जब्त करते हुए बांका थाना लाया गया है। सभी आरोपियों पर केस दर्ज कर आगे का एक्शन लिया जाएगा।

Next Story