Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पीएम मोदी के मन की बात कार्यक्रम पटना में सुना गया, नंद किशोर यादव बोले- कहानी सुनने से बच्चों को मिलते हैं 'अनेक लाभ'

बिहार भाजपा के पटना स्थित प्रदेश कार्यालय में भी पीएम नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम सुशील मोदी समेत विभिन्न कार्यकर्ता द्वारा सुना गया। कार्यक्रम सुनने के बाद पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा कि पीएम मोदी ने आज कहानी सुनाये जाने की परंपरा पर बात की। वही नंद किशोर यादव ने कहा कि बच्चों को कहानी सुनाये जाने के अनेक लाभ मिलते हैं।

pm narendra modi mann ki baat program was heard by various party workers including sushil modi in patna
X
बिहार भाजपा के पटना स्थित प्रदेश कार्यालय में पीएम मोदी के मन की बात कार्यक्रम को सुननते पार्टी कार्यकर्ता।

बिहार भाजपा के पटना स्थित प्रदेश पार्टी ऑफिस में रविवार को पीएम मोदी के मन की बात कार्यक्रम सुना गया। जानकारी है इस दौरान भाजपा कार्यालय में डिप्टी सीएम सुशील मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय, पार्टी प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जयसवाल और पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव समेत पार्टी की विभिन्न कार्यकर्ता मौजूद रहे। पटना स्थित पार्टी कार्यालय में भाजपा नेताओं द्वारा पीएम मोदी के मन की बात कार्यक्रम सुने जाने की जानकारी सूबे के स्वास्थ्य मंंत्री एवं भाजपा नेता सुशील मोदी द्वारा ट्वीट कर दी गई है। इसके अलावा बिहार भाजपाइयों में पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह के निधन से शोक की लहर है।



पीएम नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम सुनने के बाद बिहार के पथ निर्माण मंत्री एवं भाजपा नेता नंद किशोर यादव ने ट्वीट कर जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा आज देश-दुनिया में लोकप्रिय कार्यक्रम 'मन की बात' में कहानी कहने की परंपरा पर बातें कही हैं। भाजपा नेता ने कहा है कि किस्सागोई की हमारे देश में प्राचीन परंपरा रही है। उन्होंने बताया कि कहानी सुनने से बच्चों को अनेक लाभ भी मिलते हैं। नंद किशोर यादव ने कहा कि बच्चों को कहानी सुनना बहुत पसंद होती हैं।



कहानी सुने जाने से बच्चों को परोक्ष रूप से मिलती है शिक्षा: भाजपा नेता

भाजपा नेता नंद किशोर यादव ने कहा कि परिवार के बूढ़े-बुजुर्ग द्वारा बच्चों को कहानियां सुनायी जाती हैं। इस दौरान परिवार के बूढ़े-बुजुर्ग बच्चों के बीच अपने अनुभवों को भी साझा करते हैं। उन्होंने कहा कि इससे बच्चों का मनोरंजन भी होता है व परोक्ष रूप से शिक्षा भी मिलती है। नंद किशोर यादव ने कहा कि इससे बड़े-बुजुर्गों के प्रति बच्चों की आत्मीयता भी बढ़ती है।

Next Story