Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हाईकोर्ट ने सफाई कर्मचारियों को कार्य पर लौटने का दिया निर्देश, सरकार को समाधान निकालने के लिए दिया इतना समय

पटना हाईकोर्ट ने मामले में सुनवाई करते हुए बिहार सरकार को 8 हफ्ते में निगम कर्मियों की मांगों पर विचार कर निर्णय पारित करने का निर्देश दिया है। साथ ही हाईकोर्ट ने सफाईकर्मियों को तुरंत काम पर लौटने का निर्देश दिया है।

Patna High Court directs striking scavengers for return on work Bihar Government News
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

राजधानी पटना (Patna) समेत तमाम प्रदेशवासियों के लिए राहत प्रदान करने वाली खबर (relief news for people of bihar) सामने आई है। अब बिहार के शहरों में एक बार फिर से साफ-सफाई का कार्य (cleaning work) पहले के समान शुरू हो जाएगा। आपको बता दें पिछले आठ दिनों से नगर निकाय कर्मचारियों की हड़ताल (Municipal employees strike) के कारण बिहार (Bihar) में तमाम शहरों में साफ-सफाई का कार्य चौपट था। वहीं अब पटना उच्च न्यायालय (Patna High Court) की ओर से हड़ताली सफाईकर्मियों को तुरंत कार्य पर वापस लौटने का निर्देश (Instructions for sweepers return on work) जारी किया है। पटना उच्च न्यायालय के चीफ जस्टिस ने महाधिवक्ता की पहल पर इस मामले में सुनवाई की। साथ ही अदालत ने बिहार सरकार (Bihar Government) को भी 8 सप्ताह के अंदर निगमकर्मियों की मांगों पर निर्णय लेने के लिए खास निर्देश जारी किया है।

पटना हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ ने इस केस में सुनवाई की। साथ ही खंडपीठ ने बिहार सरकार को 8 हफ्ते का वक्त दिया कि सरकार इन दिनों के भीतर निगम कर्मचारियों की मांगों पर विचार कर निर्णय पारित कर दे। दूसरी ओर सरकार की ओर से भी नगर विकास एवं आवास विभाग ने अदालत को बताया कि सरकार नगर निकाय कर्मचारियों की मांग पर विचार कर रही है। इस दौरान हड़ताली सफाईकर्मियों की ओर से उनके अधिवक्ता ने भी कोर्ट में नगर निकाय कर्मियों का पक्ष रखते हुए बताया कि यदि सरकार मांगों पर विचार करने के लिए तैयार है। इसके बाद सफाईकर्मी भी कार्य पर वापस लौट आएंगे।

शहरों में लगे हैं कचरे के अंबार

वहीं आज यानी कि मंगलवार को नगर निगम सफाईकर्मियों की हड़ताल का आठवां दिन रहा। इन स्थितियों के बीच राजधानी पटना (Patna) समेत बिहार के अन्य शहरों की स्थिति नारकीय होती जा रही है। पटना की सड़कों पर कूड़े का अंबार लगे पड़े हैं। पटना के अलग अलग क्षेत्रों में हजारों टन कचरा बिखरा पड़ा हुआ है। लोगों में बीमारी फैलने का खतरा पनपने लगा है। दूसरी ओर बिहार में पहले से वायरल फीवार और स्वाइन फ्लू कहर बरपा रहे हैं। यदि इन हालातो के बीच यह हड़ताल आगे भी जारी रही तो बिहारवासियों को अन्यू बीमारियां भी प्रभावित कर सकती हैं।

Next Story