Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महज एक बोतल पानी के लिए अस्पताल बना जंग का मैदान, मारपीट के दौरान आउटसोर्सिंग स्टाफ की मौत

जमुई के रेफरल अस्पताल से दिल दलहा देने वाली एक घटना सामने आई है। यहां सिर्फ एक पानी की बोतल को लेकर आउटसोर्सिंग कंपनी के स्टाफ और सिक्योरिटी गार्ड के बीच मारपीट हो गई। बाद में उपचार के दौरान गंभीर रूप से घायल अस्पताल कर्मचारी की मौत हो गई। आरोपी फरार हो गया है और पुलिस उसकी खोजबीन कर रही है।

Outsourcing staff beaten to death at referral hospital of Jamui only for one bottle of water bihar crime news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) में जमुई (Jumai) जिले के लक्ष्मीपुर रेफरल अस्पताल (Laxmipur Referral Hospital) से चौंकानी वाली घटना सामने आई है। यहां सिर्फ एक बोतल पानी के लिए आज दो कर्मचारियों के बीच आपस में तकरार हो (fight over one bottle of water) गई। जो देखते ही देखते मारपीट (Beating) तक जा पहुंची। इसी विवाद के चलते एक शख्स मौत (man killed in assault) भी हो गई।

जानकारी के अनुसार अस्पताल के आउटसोर्सिंग स्टाफ मिथिलेश साव व वहीं ड्यूटी दे रहे सिक्योरिटी गार्ड विजय भारती के बीच पानी की एक बोतल को लेकर झगड़ा हो गया। शुरू में तो इसको लेकर दोनों के बीच बहस हुई। जो धीरे-धीरे हाथापाई तक जा पहुंची। देखते ही देखते अस्पताल जंग के अखाड़े में तब्दील हो गया। सिक्योरिटी गार्ड विजय भारती पर आरोप है कि उसने मिथिलेश को इतनी बुरी तरह से पीटा कि वह गंभीर रूप से घायल हो गया। मिथिलेश को तुरंत उपचार के लिए जमुई सदर अस्पताल पहुंचाया गया। लेकिन मिथिलेश ने दम तोड़ दिया।

रेफरल अस्पताल में मारपीट होने की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची। लेकिन पुलिस (Police) के पहुंचने से पहले ही आरोपी सिक्योरिटी गार्ड फरार हो चुका था। इस झगड़े में जिस आउटसोर्सिंग कर्मी मिथिलेश की जान गई है। वह 34 वर्ष का था और अरवल जिले का निवासी था। पुलिस के अनुसार, मिथिलेश अस्पताल में जेनरेटर चलाने का कार्य करता था। वहीं आरोपी सिक्योरिटी गार्ड को भी एक प्राइवेट कंपनी का कर्मचारी बताया जा रहा है।

मिथिलेश साव जिस कंपनी में कार्यरत था, उस कंपनी के मैनेजर प्रभात कुमार ने कहा कि वह काफी गरीब परिवार से संबंध रखता था। उन्होंने बताया कि जमुई जिले के लक्ष्मीपुर रेफरल अस्पताल में गुरुवार को ड्यूटी के वक्त पानी के एक बोतल को लेकर आरोपी गार्ड विजय भारती से उसकी बहस हो गई। इसको लेकर आरोपी विजय भारती ने मिथिलेश को बुरी तरह से पीट दिया। जिससे वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया। उसे जब तक जमुई सदर अस्पताल पहुंचा गया। उसके पहले ही मिथिलेश दम तोड़ चुका था। कंपनी मैनेजर ने बताया कि मामले को लेकर लक्ष्मीपुर थाने में शिकायत दी जा रही है।

वहीं एसडीपीओ डॉ. राकेश कुमार ने घटना की पुष्टि की है। साथ ही बताया कि मामले को लेकर पुलिस गहनता से तफ्तीश करने में जुटी हुई है। मारपीट की वारदात को अंजाम देने वाला सिक्योरिटी गार्ड भाग गया है। जिसकी तलाश पुलिस कर रही है। आउटसोर्सिंग कंपनी की शिकायत के मुताबिक पुलिस आगे की कानूनी कार्रवाई करने में जुटी हुई है।

Next Story