Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तीन जजों की बर्खास्तगी का आदेश बरकरार, जानिये इनकी हरकतें

बिहार के तीन जजों के बर्खास्तगी के आदेश को बरकरार रखा गया है। सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा इसको लेकर अधिसूचना जारी कर दी है।

order for dismissal of three judges in bihar remains intact
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार में 6 साल पहले तीन जज बर्खास्त हुये थे। जिनकी बर्खास्तगी के आदेश को अब भी बरकरार रखा गया है। इस बारे में सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा अधिसूचना जारी कर दी है। जानकारी के अनुसार तत्कालीन परिवार न्यायालय, समस्तीपुर के प्रधान न्यायाधीश हरि निवास गुप्ता, तत्कालीन तदर्थ अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश, अररिया जितेन्द्र नाथ सिंह व तत्कालीन मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी, अररिया कोलम राम को फरवरी 2014 में बर्खास्त किया गया था।

पटना हाईकोर्ट में इन तीनों जजों द्वारा बर्खास्तगी के खिलाफ याचिका दायर की गई थी। इस मामले के संबंध में न्यायालय द्वारा 2015 में बर्खास्तगी आदेश को रद्द करने के साथ हाईकोर्ट को कुछ निर्देश दिए थे। इस आदेश के आधार पर मुख्य न्यायाधीश ने पांच न्यायाधीशों की एक समिति गठित विचार के लिये गठित की थी। इस समिति ने समर्पित प्रतिवेदन के आलोक में फुल कोर्ट की बैठक में लिए गए निर्णय को महानिबंधक द्वारा सूचित किया गया। फुल कोर्ट के विस्तृत निर्णय के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में सिविल अपील दायर की गई थी।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा पिछले वर्ष पारित आदेश एवं पटना हाईकोर्ट के महानिबंधक द्वारा 3 सितम्बर 2020 को की गई अनुशंसा के आलोक में जजों को सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। यह बर्खास्तगी फरवरी 2014 से ही प्रभावी होगी।

पुलिस छापेमारी में महिलाओं के साथ पाये गये थे ये सभी

जिन तीन जजों को बर्खास्त किया गया था। वो पुलिस छापेमारी के दौरान नेपाल स्थित एक होटल में महिलाओं के साथ आपत्तिजनक हालत में पाये गये थे। बाद में इन जजों को छोड़ दिया गया था।

और पढ़ें
Next Story