Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

TB समेत इन 23 बीमारियों की होगी ऑनलाइन रिपोर्टिंग, 40 हजार स्वास्थ कर्मियों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

बिहार में स्वास्थ्य विभाग एक बड़ा कदम उठाने जा रहा है। इसके तहत राज्य में बुखार, टीबी समेत 23 प्रमुख बीमारियों की ऑनलाइन रिपोर्टिंग होगी। इसके लिए स्वास्थ्य कर्मियों को भी प्रशिक्षित किया जाएगा।

online reporting of 23 diseases including fever will be in bihar 40 thousand health workers will be given training
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) में आप जल्द ही जिले स्तर पर बुखार समेत 23 प्रमुख बीमारियों की डेली रिपोर्ट (Daily report of diseases) आसानी से जान सकेंगे। क्योंकि बिहार में जल्द ही सर्दी-खांसी, बुखार, दस्त, एग्जिमा, टायफायड, खसरा, टीबी समेत 23 प्रमुख बीमारियों की ऑनलाइन रिपोर्टिंग (online reporting of diseases) होने लगेगी। बीमारियों की ऑनलाइन रिपोर्टिंग के लिए स्वास्थ्य कर्मियों (health workers) को प्रशिक्षित किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग (health Department) की ओर से ग्रामीण इलाकों में अचानक फैलने वाली बीमारियों एवं किसी खास बीमारी के प्रभाव क्षेत्र में वृद्धि पर लगाम कसने के लिए डेली रिपोर्टिंग का प्रोसेस तैयार किया है। इसके मद्देनजर मुख्यालय स्तर पर सभी जिलों से वहां चिह्नित किए जाने वाले मरीजों की ऑनलाइन रिपोर्टिंग किए जाने का फैसला लिया गया है।

इन स्वास्थ्य कर्मियों को मिलेगी ट्रेनिंग

बताया जा रहा है कि बिहार में तमाम अस्पतालों में तैनात सभी लैब तकनीशियनों (lab technicians) और एएनएम (ANM) को ऑनलाइन बीमारियों की प्रतिदिन रिपोर्टिंग के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी। बताया जा रहा है कि एएनएम (नर्स) 'अनमोल टैबलेट' का प्रयोग ऑनलाइन रिपोर्टिंग के लिए करेंगी। साथ ही ये नर्स रोजाना ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर बीमार लोगों का डाटा जुटाएंगी। इसके बाद ये एएनएम ऑनलाइन अनमोल टैबलेट के जरिए जुटाए गए डाटा की इंट्री करेंगी। दूसरी तरफ लैब तकनीशियन अपनी-अपनी लैब में जांच के लिए पहुंचे मरीजों की बीमारियों का डाटा जुटाकर उसकी ऑनलाइन इंट्री करेंगे।

जिला स्तर पर दी जाएगी ट्रेनिंग

बताया जा रहा है कि बीमारियों की ऑनलाइन रिपोर्टिंग के लिए लैब तकनीशियन और एएनएम को जिला स्तर पर प्रशिक्षण दिया जाएगा। कोरोना वायरस को देखते हुए वर्तमान में जिला स्तर पर एक दिवसीय ट्रेनिंग कार्यक्रम निर्धारित किया गया है। जिसके तहत जिला डाटा मैनेजर, एपिडिमोलॉजिस्ट, जिला ऑपरेटर, विश्व स्वास्थ्य संगठन के पदाधिकारी द्वारा ट्रेनिंग दी जाएगी। ट्रेनिंग के उपरांत जिला और राज्य स्तर पर इसका समय-समय पर निरीक्षण भी किया जाएगा।

प्रदेश में 40 हजार स्वास्थ्य कर्मी होंगे प्रशिक्षित

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बिहार में करीब 15 हजार लैब तकनीशियन और 25 हजार एएनएम को मिलाकर कुल 40 हजार स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षित किया जाएगा। इसके बाद जिला और प्रखंड स्तर से सीधे मुख्यालय को बुखार समेत 23 बीमारियों ऑनलाइन रिपोर्ट आसानी से मिल सकेगी।

Next Story