Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना और बाढ़ पीड़ितों की वजह से स्थगित की गई है नीतीश की वर्चुअल रैली : जदयू

जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने बताया कि बिहार में कोरोना, बाढ़ की वजह से लोगों की पीड़ा को देखते हुए नीतीश कुमार की सात को होने वाली वर्चुअल रैली स्थगित की गई है। वहीं उन्होंने कहा कि कोरोना के मामले में बिहार के हालात देश के अन्य राज्यों के मुकाबले बेहतर हैं।

nitish
X
बिहार के सीएम नीतीश कुमार

बिहार में सत्ताधारी पार्टी जदयू के प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने रविवार को ट्वीट के माध्यम से बताया कि सीएम नीतीश कुमार के राज में बिहार में कानून व्यवस्था कायम है। उन्होंने बताया कि बिहार में 1990 से 2005 तक जंगलराज का दौर था। सीएम नीतीश कुमार ने उस जंगलराज के दौर को बिहार से समाप्त कर दिया है व अब सूबे में कानून का राज स्थापित है।

रंजन ने कोरोना महामारी को लेकर कहा कि यह एक वैश्विक आपदा है। जिससे भारत ही नहीं इससे दुनिया के कई मुल्कों के हालात बिगड़ गये हैं। वहीं उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश कुमार के नेतृत्व में एक व्यवस्थित रोड मैप के जरिए बिहार लगातार कोरोना संक्रमण से लड़ाई लड़ रहा है। बिहार के हालात देश के अन्य राज्यों से काफी बेहतर हैं। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि हमने सूबे में कोरोना से निपटने के लिये व्यवस्थाओं में भी परिवर्तन भी किया है। सूबे में कोरोना टेस्टिंग मामले में भी हमने सुधार किया है। जो अब बेहतर सुधार हो गया है। सूबे में स्वास्थ्य सुविधायें सुधारी गई हैं। कोरोना को लेकर जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। रंजन ने कहा कि हमें पूरी तरह से भरोसा है कि देश के अन्य राज्यों के मुकाबले हम कोरोना को लेकर बेहतर स्थिति में हैं।



जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने बिहार में सरकार विरोधियों पर भी निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि बिहार में कोरोना महामारी, बाढ़ की वजह से लोगों को हो रही दिक्कतों की वजह से जदयू ने सात अगस्त की वर्चुअल रैली स्थगित की है। रंजन ने बताया कि अगर सात को बिहार के सीएम एवं जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार वर्चुअल रैली नहीं कर रहे हैं तो भी विपक्ष सवाल उठा रहा है। अगर वे वर्चुअल करते तो भी विपक्ष सवाल उठाता, क्योंकि विपक्ष के पास सवाल उठाने के अलावा कोई और काम नहीं है। इसलिये हम विपक्ष के इन गैर जरूरी सवालों पर जवाब देना भी उचित नहीं समझते हैं।




Next Story
Top