Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नवरात्र शुरू: पटना के गांधी मैदान में नहीं होगा रावण दहन, दुर्गा पूजा को लेकर नई गाइडलाइन जारी

शारदीय नवरात्र आज से शुरू हो गया है। देश के साथ-साथ बिहार में भी दुर्गा पूजा पर कोविड का साया है। दुर्गा पूजा के दौरान आयोजित होने वाले मेले पर इस बार रोक लगा दी गई है। वहीं पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में होने वाले रावण दहन के कार्यक्रम पर भी रोक लगा दी गई।

Navratri begins Ravana combustion will not happen in Gandhi Maidan of Patna new corona guideline issued regarding Durga Puja bihar news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) समेत पूरे देशभर में शारदीय नवरात्र (Sharadiya Navratri) गुरुवार यानी कि सात अक्‍टूबर से प्ररारंभ हो गए है। इस बार शारदीय नवरात्र आठ दिनों के होंगे। आज देवी शैलपुत्री की पूजा-अर्चना की जाएगी। वहीं कोविड के दौर में हो रहे इस पर्व को लेकर प्रशासन और सरकार की तरफ से नई गाइडलाइन (corona guideline) जारी की गई है। इस कोरोना गाइडलाइन पालन करना अनिवार्य होगा। पटना (Patna) जिला प्रशासन की ओर से इस संबंध में जरूरी निर्देश जारी किए गए हैं। कोरोना वायरस को देखते हुए इस बार दुर्गा पूजा के अवसर पर मेला आयोजित नहीं होगा। इसके अलावा पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में होने वाले रावण दहन कार्यक्रम पर भी रोक लगा दी गई है। आपको बता दें कि इस कार्यक्रम में एक बड़ी संख्या में लोग गांधी मैदान में जुटते हैं। कोरोना को देखते हुए वहीं भारी भीड़ ना जमा हो, इस वजह से यह निर्णय लिया गया है।

पूरे बिहार में नवरात्र को लेकर धूम है। वही कोविड के साए में हो रहे दुर्गा पूजा को लेकर सरकार से लेकर प्रशासन तक चौंकन्ना है। वहीं पूजा पंडालों व मेला आयोजन के संबंध में प्रशासन ने नया दिशा-निर्देश जारी किया है। साथ ही इन दिशा-निर्देश का पालन करना अनिवार्य होगा। पूजा पंडालों में कोरोना प्रोटोकॉल को मानना जरूरी होगा। मास्‍क के उपयोग के अलावा सैनिटाइजर की मुहैया करना जरूरी कर दिया गया है। पटना प्रशासन ने साफ कहा है कि इस बार दुर्गा पूजा मेला आयोजित नहीं होगा। साथ कहा गया कि कोरोना नियमों का उल्‍लंघन करने पर सख्त एक्शन लिया जाएगा।

पटना जिला प्रशासन की गाइडलाइन में कोरोना वायरस के प्रसार की रोकथाम को लेकर कई खास निर्देश जारी किए गए हैं। जिसमें पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में दशहरे के मौके पर होने वाले रावण दहन कार्यक्रम भी रद्द करने का निर्णय लिया गया है। आपको बता दें कि इस कार्यक्रम में काफी भीड़ जुटती थी। इस भीड़ को जमा होने से रोकने के लिए इस वर्ष रावण दहन कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया है। वहीं नदियों में प्रतिमा विसर्जन पर भी रोक लगाई गई है। इस बार कृत्रिम तालाबों में दुर्गा प्रतिमाओं को विसर्जित किया जाएगा। वैसे दुर्गा पूजा के अवसर पर कालिदास रंगालय में रामलीला का आयोजन होगा।

Next Story