Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मां ने बेटी को जिंदा दफन कर डाला, नवजात को ऐसे मिली नई जिंदगी, जानें पूरा मामला

बिहार के लखीसराय जिले में मां की ममता शर्मसार हो गई है। बेटी के जन्म लेने पर एक मां ने उसको जिंदा ही दफनाने का प्रयास किया। लेकिन पड़ोसियों की तत्परता से उस नवजात को नई जिंदगी मिल गई।

mother buried her newborn daughter alive in lakhisarai neighbors saved her lives bihar crime news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) के लखीसराय (Lakhisarai) जिले से हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। जिसको सुनकर हर किसी के रोंगटे खड़े हो रहे हैं। क्योंकि जिले के कबैया थाना इलाके में एक महिला ने मां की ममता को शर्मसार (shame on mother love) करने वाली वारदात को अंजाम दिया है। हुआ ये कि बेटी के जन्म लेने पर इस महिला ने उक्त नवजात बच्ची (newborn baby) को जिंदा दफन करने का प्रयास किया। पूरे वारदात पर पड़ोसियों की नजर पड़ गई। जिसपर उन्होंने तत्परता से कदम उठाया और नवजात बच्ची को नई जिंदगी मिली गई।

मीडियो रिपोर्ट के अनुसार कबैया थाना इलाके स्थित पंजाबी मुहल्ला के पास एक बेदर्द मां शनिवार की देर शाम में अपनी सात दिनों की नवजात बेटी (newborn daughter) को मिट्टी में जिंदा दफन करने की कोशिश कर रही थी। महिला ने बच्ची (Girl) को कंबल में लपेटकर गड्ढे में डाल दिया था। जिसके बाद उसके ऊपर करीब आधा दर्जन से ज्यादा ईंटें रख दी। इस दौरान उसकी हरकत को पड़ोस की छत से एक महिला ने देख लिया। यह देखते ही पड़ोसी महिला भी चौंक गई। बिना देर किए महिला ने हल्ला करना शुरू कर दिया। इस तुरंत पड़ोस वाले लोग भागकर मौके पर पहुंच गए। ये लोग बिना देर किए उक्त महिला के घर में दाखिल हो गए। इन लोगों ने तुरंत बच्ची को गड्ढे से बाहर निकाला और उससे कंबल हटाया।

स्थानीय लोगों ने तुरंत ही इस वारदात की सूचना वार्ड पार्षद सह नगर परिषद् के अध्यक्ष को दी। जो तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे। फिर उन्होंने पुलिस (Police) की मदद से बच्ची को पहले पचना रोड स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से बाद में बच्ची को बेहतर उपचार के लिए लखीसराय सदर अस्पताल रेफर किया गया। वर्तमान में यह नवजात बच्ची एसएनसीयू में भर्ती बताई जा रही है।

मामले पर कबैया थाना अध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा कि उक्त मां मासूम बच्ची की की हत्या करने के इरादे से उसको जमीन में दफन कर रही थी। पड़ोसियों से मिली जानकारी के बाद बच्ची की जान बचा ली गई। इस मामले को लेकर पुलिस हिरासत में महिला से पूछताछ हो रही है। महिला ने समाचार लिखे जाने तक पुलिस को कुछ नहीं बताया है। ये बात भी सामने आई है कि स्थानीय लोग उक्त महिला को नहीं जानते हैं। जांच में पता चला है कि उक्त महिला किराए के घर में रह रही थी। बच्ची उसी महिला की है या किसी और की है। पुलिस इस बात की तफ्तीश करने में जुटी हुई है। महिला ने पुलिस पूछताछ में अपने पति का नाम भी नहीं बताया है।

Next Story