Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Covid-19: मां-बेटा की कोरोना से मौत, पूरे इलाके में भय का माहौल

बिहार के दरभंगा जिले के पिंडारुछ गांव से एक दर्दनाक खबर सामने आई हैं। यहां कोरोना की वजह से एक ही दिन में मां और बेटे दोनों की मौत हो गई। केवटी विधानसभा क्षेत्र में कोरोनावायरस की वजह से दहशत का माहौल कायम है।

कोरोना संक्रमित को दवा देने पहुंची स्वास्थ्य टीम पर लोगों ने किया हमला, रासुका लगाने की तैयारी में प्रशासन
X

कोरोना संक्रमित को दवा देने पहुंची स्वास्थ्य टीम पर लोगों ने किया हमला, रासुका लगाने की तैयारी में प्रशासन

बिहार (Bihar) के दरभंगा (Darbhanga) जिले के केवटी विधानसभा क्षेत्र (Keoti Assembly Constituency) में कोरोना (Corona) जमकर कहर बरपा रहा है। दरभंगा जिले के पिंडारुछ गांव में कोरोना संक्रमण (Corona infection) की वजह से एक ही दिन में मां और बेटा दोनों की दर्दनाक मौत हो गई। बीमार मां ने पिंडारुछ गांव (Pindaruchha Village) में स्थित घर में दम तोड़ा, वहीं बेटे की दरभंगा मेडिकल कॉलेज 'Darbhanga Medical College' (डीएमसीएच) में ईलाज के दौरान मौत हुई। एक दिन में कोरोना की वजह से दो लोगों की मौत होने पर ग्रामीणों में भय का माहौल कायम है। इनके अलावा परिवार के तीन अन्य लोग भी कोरोना संक्रमित बताए जा रहे हैं।

जानकारी के अनुसार कोरोना पॉजिटिव लोगों में मृतक महिला का एक बेटा, एक पोता और एक पुत्रवधु शामिल है। पोते की स्थिति गंभीर बताई जा रही है। जिसका डीएमसीएच में उपचार चल रहा है। इसके अलावा परिवार के अन्य दो कोरोना संक्रमित लोगों का घर पर ही उपचार चल रहा है। जानकारी के अनुसार 76 वर्षीय वृद्ध महिला की घर पर ही गुरुवार की रात को मौत हुई थी। परिजनों को शुक्रवार की सुबह को महिला की मौत हो जाने के विषय में पता चला। शुक्रवार की सुबह को महिला के बड़े बेटे और पोते को गंभीर स्थिति में डीएमसीएच में भर्ती कराया गया था। जहां शुक्रवार को ही महिला के बेटे की अस्पताल में मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि कोरोना की वजह से डीएमसीएच में मरे पुत्र का अंतिम संस्कार जिला मुख्यालय में ही किया जायेगा। महिला का अंतिम संस्कार गांव के पास स्थित बलुआहा मैदान में जेसीबी से गड्डा खोदकर कर दिया गया। पहले तो गांव में जिला एम्बुलेंस के साथ मेडिकल टीम पहुंची। फिर यह मेडिकल टीम शव को पैक कर एंबुलेंस से शमशान घाट लेकर पहुंची।

इसके बाद गड्डे में शव को दफनाकर अंतिम संस्कार की रस्म पूरी कर दी गई। अंतिम संस्कार के मौके पर बीडीओ महताब अंसारी, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ निर्मल कुमार लाल, कमतौल थानाध्यक्ष सरवर आलम, स्वास्थ्य प्रबंधक दीपक कुमार आदि अधिकारी मौजूद रहे।

Next Story