Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

माले नेता की निर्ममता से हत्या कर खेत में फेंका शव, गुस्साए लोगों ने 9 घंटे तक किया रोड जाम, जांच में जुटी पुलिस

बिहार के भोजपुर जिले से एक बड़ी ही सनसनीखेज घटना सामने आई है। यहां बदमशों ने निमर्मता से लापता माले नेता की हत्या कर दी है। घटना के विरोध में माले कार्यकर्ता पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया।

माले नेता की निर्ममता से हत्या कर खेत में फेंका शव, गुस्साए लोगों ने 9 घंटे तक किया रोड जाम, जांच में जुटी पुलिस
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

भोजपुर (Bhojpur) के अजीमाबाद थाना क्षेत्र के चल्हिर गांव से एक बड़ा ही सनसनखेज हत्याकांड (massacre) सामने आया है। यहां बदमाशों ने माले नेता को धारदार हथियार से काटकर निर्ममता से मौत के घाट उतार दिया (Male leader murder) है। माले नेता कई दिनों से लापता (missing) थे। उनकी लाश शुक्रवार की सुबह चल्हिर गांव की उतर पट्टी स्थित धान के खेत में मिली। हत्या (Murder) के दौरान माले नेता के एक पैर और एक हाथ की अंगुली भी काट दी गई थी।

बदमाशों ने पैर के नाखून भी उखाड़ दिए थे। शव पर फफोले निशान भी थे। जिससे लगता है कि उनके ऊपर गर्म पानी या तेजाब डाला गया है। पहचान मिटाने के मकसद से तेजाब डालने और उनके चेहरे को पत्थर से कुचलने का भी आरोप लग रहा है। शव क्षत-विक्षत हालातों में था। मृतक माले नेता चल्हिर गांव के रहने वाले नेमोलाल 60 साल थे। ये बीते बुधवार की शाम से लापता थे।

माले नेता की हत्या करने का आरोप बड़गांव के पैक्स अध्यक्ष व चल्हिर गांव निवासी दो लोगों पर लगा है। घटनास्थल से एक आधार कार्ड की फोटो कॉपी भी बरामद हुई है। हत्या की सूचना मिलते ही शुक्रवार को कार्यकर्ता उग्र हो गए थे और हंगामा शुरू कर दिया था। माले कार्यकर्ताओं ने घटनास्थल से पुलिस (Police) को शव भी नहीं उठाने दिया था।

जानकारी मिलने पर अगिआंव विधायक मनोज मंजिल भी घटनास्थल पर पहुंचे। फिर गुस्साए माले कार्यकर्ता आरोपियों की गिरफ्तारी, पीड़ित परिजनों के लिए मुआवजे की मांग को लेकर रोड पर उतर गए। इन लोगों ने पुलिस-प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। गुस्साए लोगों ने शव को किरकिरी बाजार में बीच सड़क पर रख नासरीगंज-सकड्डी राज्य मार्ग को जाम कर दिया।

शुक्रवार को यह राज्य मार्ग करीब नौ घंटे तक जाम रहा। शाम को चार बजे पीरो एसडीपीओ अशोक कुमार आजाद मौके पर पहुंचे। उन्होंने प्रदर्शनकारियों को आरोपियों की गिरफ्तारी का भरोसा दिया। इसके बाद लोगों का आक्रोश शांत हुआ। राज्य मार्ग पर आवागमन बहाल हुआ और शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया।

मामले पर भोजपुर एसपी विनय तिवारी का कहना है कि नेमोलाल हत्या मामले में शामिल आरोपितों को जल्द अरेस्ट कर लिया जाएगा। आरोपियों को दबोचने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। उन्होंने कहा कि हत्या मामले में गहनता से तफ्तीश जारी है। आरोपियों के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। वहीं एसपी ने कहा कि राज्य मार्ग पर जाम लगाने वालों के खिलाफ भी एक्शन लिया जाएगा। इसको लेकर मामला दर्ज किया जाएगा।

और पढ़ें
Next Story