Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

स्कूल में हर बच्चे को एक रुपये का नोट दे रहा था नाबालिग, पुलिस ने पकड़ा तो हुआ चौंकाने वाला खुलासा

बिहार के गया जिले से एक अजब-गजब मामला सामने आया है। यहां एक नाबालिग लड़के ने अपने रिश्तेदार के घर में चोरी की वारदात को अंजाम दिया। उसके बाद किशोर एक स्कूल के गेट पर खड़ा हो गया और प्रति बच्चे को एक-एक रुपये का नोट देने लगा। इस हरकत से बच्चे पर शक हुआ।

Minor boy gave one rupee every child of school after stealing in relative house in Gaya District
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) में गया (Gaya) जिले के बोधगया (Bodh Gaya) क्षेत्र में एक नाबालिग लड़के (Minor boys) ने अपना शौक पूरा करने के मकसद से एक ऐसी घटना को अंजाम दे दिया। जिससे हर कोई हैरान है। इस बच्चे को महंगे मोबाइल का शौक था। उसने अपनी इस इच्छा को पूरा करने के लिए अपने एक रिश्तेदार के घर में घुसकर चोरी (theft) की वारदात को अंजाम दे डाला।

जानकारी के अनुसार लड़के के एक पड़ोसी रिश्तेदार का घर कई दिनों से बंद पड़ा हुआ था। इस बंद घर में मौका पाकर लड़का घर में जा घुसा और अलमीरा में रखें डेढ़ लाख रुपए नगद चोरी कर लिए। वही पुलिस ने इस पूरे मामले को सुलझा लिया है। नाबालिग लड़के ने इनमें से 78 हजार रुपये अपने घर के भूसे में छिपाकर रखे हुए थे। जो पुलिस ने बरामद कर लिए हैं।

गया पुलिस के अनुसार चोरी के रुपयों में से नाबालिग लड़के ने एक 20 हजार रुपये का मोबाइल (mobile) खरीद लिया था और अन्य रुपये की बरामदगी के लिए पुलिस जांच-पड़ताल कर रही है। इस पूरे मामले का खुलसा ऐसे हुआ कि जब एक नाबालिग चोर घर के पास एक स्कूल पर जा पहुंचा। जहां नाबालिग ने प्रति स्कूली बच्चे को एक 1-1 रुपये का नोट बांटने शुरू कर दिए। लोगों को लड़के पर शक हुआ और मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस तुरंत पीड़ित मकान मालिक के पास पहुंची और फिर से पूरे मामले की जानकारी ली। पीड़ित ने पुलिस को बताया कि चोरी किए गए रुपयों में एक-एक रुपये का नोट का बंडल भी शामिल था। पुलिस ने फिर तुरंत उस नाबालिग लड़के को हिरासत में ले लिया। जहां पुलिस नाबालिग से पूछताछ की। इस दौरान लड़के ने चोरी करने की वारदात को स्वीकार कर लिया।

मामले पर बोधगया एसडीपीओ ने बताया जांच के दौरान पुलिस को जानकारी मिली थी कि वादी के पड़ोस में रहने वाला जानकार 16 वर्षीय लड़का स्कूल के पास कुछ बच्चों में एक-एक रुपये का नोट बांट रहा है। इससे तुरंत पुलिस अलर्ट हो गई। तुरंत पीड़ित पंकज पांडेय से पूरे मामले की जानकारी ली गई। इसपर पता चला कि आलमारी से चोरी हुए रुपयों में एक-एक रुपये का नोट भी रखे हुए थे। मामले के बारे में गांव वालों से भी पूछताछ की गई।

पुलिस हिरासत में नाबालिग ने बताया कि उसको मोबाइल खरीदना था। जिसके लिए उसे पैसों की जरूरत थी। इसके बाद उसने पड़ोसी के घर में चोरी करने की साजिश बनाई। मौका पाते ही वो पड़ोसी के घर में घुस गया और आलमीरी को तोड़कर उसमें रखे लगभग डेढ़ लाख रुपये निकाल लिए। इस संबंध में पीड़ित पंकज पांडेय की ओर से चोरी की प्राथमिकी मगध यूनिवर्सिटी थाने में मंगलवार को दर्ज करवाई गई थी।

Next Story