Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भाजपा नेता शराब और बियर की बोतलों के साथ गिरफ्तार, बेटे के खुलासे से पकड़ा गया तस्कर बाप

Liquor Ban : शराबबंदी वाले बिहार में शराब को लेकर प्रदेश पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। बिहार पुलिस ने मधुबनी जिले के चभच्चा चौक स्थित भाजपा नेता शकील अहमद के घर से छापेमारी कार्रवाई की। जहां से पुलिस ने भारी मात्रा में शराब के साथ भाजपा नेता शकील को गिरफ्तार कर लिया।

liquor ban large consignment of english liquor and beer recovered from bjp leader shakeel ahmed house in madhubani police arrested bihar Crime news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

Liquor Ban : बिहार (Bihar) में कई वर्षों से शराबबंदी कानून (Prohibition law) लागू है। बिहार में शराबबंदी (Liqueur Ban) कानून को सफल बनाने के लिए आबकारी विभाग और पुलिस (Police) विभाग रात-दिन एक किए हुए हैं। वहीं सत्ताधारी पार्टी भाजपा के नेता (BJP leader) खुद बिहार में शराबबंदी कानून को धत्ता साबित कर रहे हैं। बिहार पुलिस ने मधुबनी जिले (Madhubani district) में ऐसे ही शराब के अवैध धंधे का पर्दाफाश किया है।

जानकारी के अनुसार पुलिस ने मधुबनी जिले में चभच्चा चौक स्थित शकील अहमद के घर पर छापेमारी कार्रवाई की। जहां पर भारी मात्रा में शराब बरामद हुई। पुलिस ने तुरंत ही मौके से शकील अहमद (BJP leader Shakeel Ahmed) को गिरफ्तार किया कर लिया। शकील अहमद को बिहार भाजपा अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ का प्रदेश मंत्री बताया जा रहा है। पुलिस ने शकील अहमद के बेटे मो. आसिफ को पहले ही शराब से जुड़े मामले में गिरफ्तार किया था।

प्रभारी नगर थाना अध्यक्ष अरविंद कुमार के अनुसार भाजपा अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश मंत्री शकील अहमद के घर से 45 अंग्रेजी शराब की और बियर की बोतल एवं 60 बोतल नेपाली देसी शराब की बोतलें बरामद हुई हैं। अरविंद कुमार ने बताया कि पहले शकील अहमद के बेटे मो. आसिफ को शराब बेचते हुए पकड़ा गया था। मो. आसिफ की निशानदेही पर ही पुलिस ने ये कार्रवाई की है।

अरविंद कुमार ने कहा कि शुक्रवार को स्टेशन मोहल्ला स्थित दिनेश मुखिया के घर मो. आसिफ शराब की डिलीवरी करते वक्त पकड़ा गया था। आसिफ के कब्जे से शराब की बोतलें भी जब्त की गई थी। आसिफ ने पूछताछ के दौरान पुलिस को शराब खरीद बिक्री में अपने पिता शकील अहमद की संलिप्तता भी स्वीकार की थी। इसके बाद शकील अहमद के घर पर छापेमारी की गई। पुलिस को देखते ही शकील अहमद ने भागने का प्रयास किया। लेकिन पुलिस ने शकील अहमद को समय रहते दबोच लिया गया।

थाना अध्यक्ष अरविंद कुमार ने बताया कि दोनों बाप बेटा के अलावा दिनेश मुखिया के खिलाफ भी शराबबंदी कानून को तोड़ने एवं अन्य धाराओं को लेकर प्राथमिकी दर्ज की गई है। दूसरी ओर शराब खरीद बिक्री के अन्य मामलों में सुभाष चौक निवासी भरत कुमार, सूरतगंज निवासी मोहन प्रधान, रोहित नायक एवं सप्ता निवासी दिनेश यादव के खिलाफ भी मामला दर्ज हुआ है। गिरफ्तार सभी अभियुक्तों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

दूसरी तरफ भाजपा जिला अध्यक्ष शंकर झा ने कहा कि शकील अहमद को पार्टी से हटाया गया है। पहले से वो पार्टी में एक्टिव नहीं है। यह सवाल करने पर कि शकील अहमद को कब हटाया गया तो जिला अध्यक्ष ने कहा कि वो प्रदेश स्तर के नेता थे, प्रदेश स्तर के लोग ही इस बारे में बता पाएंगे।

Next Story