Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अंधविश्वास के चलते अगवा कर मासूम बच्चे की दे डाली बलि, पूरे गांव में मची चीख-पुकार

बिहार के जमुई जिले से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां पर अंधविश्वास के चलते एक मासूम बच्चे की हत्या कर दी गई है। पुलिस ने हत्या मामले के आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

Kidnapped and killed innocent child due to superstition in Jamui bihar crime news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) के जमुई जिले में लापता आठ वर्षीय लड़के की हत्या (eight year old boy murdered) कर दी गई है। अंधविश्वास के चलते गांव के ही एक युवक ने इस हत्या की वारदात (murder due to superstition) को अंजाम दिया है। पुलिस (Police) ने बच्चे का शव पहाड़ी से बरामद किया है। यह दर्दनाक घटना जमुई जिले के झाझा थाना इलाके की बताई जा रही है। जहां अंधविश्वास की आड़ में गला रेत कर बच्चे की हत्या (child murder) कर दी गई है। मृतक बच्चे का नाम मिथुन कुमार था। वहीं बच्चे की हत्या करने का आरोप लाटो दास नाम के युवक पर लगा है। पुलिस ने हत्या मामले में आरोपी युवक लाटो दास को अरेस्ट कर लिया है। हत्या की वारदात को अंजाम देने वाला और मृतक बच्चा दोनों चाय के रहने वाले बताए गए हैं।

बताया जा रहा है कि बच्चा मिथुन कुमार मंगलवार के दोपहर को अचानक गायब हो गया। परिजनों ने बच्चे की काफी खोजबीन की, लेकिन बच्चे का कहीं पता नहीं चल सका। वहीं आरोप लगा है कि गांव निवासी लाटो दास उक्त बच्चे को अपनी बाइक पर बिठा कर लोगाय पहाड़ी की ओर लेकर गया था। जहां पर उसने बच्चे का मुंह दबाकर उसे बेहोश कर दिया। फिर आरोपी ने चाकू निकाल लिया और उसी चाकू से बेहोश बच्चे का गला काटकर हत्या कर दी। कहा जा रहा है कि इस हत्या वारदात को आरोपी ने अंधविश्वास के चलते अंजाम दिया। पुलिस हिरासत में आरोपी युवक ने बच्चे की हत्या करने की बात को स्वीकार किया है। साथ ही पुलिस पूछताछ में आरोपी ने बताया है कि वह सपने में देखता था कि यदि वह किसी की जान ले लेगा तो वह स्वस्थ हो जाएगा।

इस वजह से मैंने पहाड़ी पर ले जाकर एक बच्चे की जान ले ली। बच्चे की हत्या कर दिए जाने के बाद से ही परिजनों के बीच चीख-पुकार मची हुई है। मासूम को मौत के घाट उतार दिए जाने की घटना के चलते चाय गांव समेत पूरे इलाके में हड़कंप व्याप्त है। मामले पर बच्चे के पिता मंगरु दास का कहना है कि उनका पुत्र जिसका नाम मिथुन था। वह मंगलवार की दोपहर को अचानक लापता हो गया था। अन्य लोगों के साथ मिलकर पूरे गांव में उन्होंने बच्चे की खोजबीन की। लेकिन बच्चे के बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी। बच्चे के लापता होने की जानकारी झाझा थाना पुलिस को दी गई। तुरंत पुलिस ने बच्चे की तलाश शुरू की। इस दौरान पता चला कि बच्चे को अंतिम बार गांव निवासी लाटो के साथ देखा गया था। इस पर पुलिस ने कड़ाई से बच्चे के बारे में लाटों से पूछताछ की। इस दौरान पूरे कांड का खुलासा हुआ।

एसपी प्रमोद कुमार मंडल ने कहा कि अंधविश्वास की आड़ में एक युवक ने मासूम बच्चे की हत्या कर दी है। आरोपी को अरेस्ट कर लिया गया है। उससे हिरासत में पुलिस पूछताछ कर रही है। बच्चे की लाश पहाड़ी से बरामद की गई है। हत्या में इस्तेमाल चाकू को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है।

Next Story