Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नीतीश कुमार के अलग होते ही समाप्त हो गया था महागठबंधन, अब बची हैं सिर्फ गांठें : जदयू

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 तैयारियों में जुटी जदयू ने कहा कि महागठबंधन से जिस दिन नीतीश कुमार अलग हो गये थे। उसी दिन महागठबंधन का औचित्य समाप्त हो गया था। अब महागठबंधन में सिर्फ उसमें गांठें ही बची हैं।

jdu said that the grand alliance was ended as soon as nitish kumar was separated and now only knots are left
X
नीतीश कुमार

बिहार में जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव करीब आ रहा है। वैसे-वैसे ही सूबे में सियासी दलों द्वारा अपनी पकड़ बनाने के प्रयास में एक-दूसरे पर हमले बढ़ते जा रहे हैं। इसी कड़ी में जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने शुक्रवार को ट्वीट के माध्यम से विरोधी पार्टियों कांग्रेस और राजद पर हमला बोला है। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि जिस दिन जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार ने महागठबंधन से अलग होने का फैसला ले लिया था। उसी दिन महागठबंधन शब्द का औचित्य समाप्त हो गया था और अब महागठबंधन केवल और केवल गठबंधन बाकी रह गया है। इससे आगे राजीव रंजन प्रसाद ने कहा कि अब तो गठबंधन भी टूट रहा है। 'हम' अध्यक्ष जीतन राम मांझी भी हाल के दिनों में इससे अलग हो गये। वहीं जदयू प्रवक्ता ने कहा कि अब तो गठबंधन में सिर्फ गांठें बची हैं और यही वजह है कि अब अधिकतर पार्टियां गठबंधन से किनारा करने लगी हैं।



जदयू प्रवक्ता ने कांग्रेस के 'क्रांति महासम्मेलन' पर साधा निशाना

जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद ने अन्य ट्वीट के माध्यम से कांग्रेस को भी निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्वारा उत्तर बिहार में 'क्रांति महासम्मेलन' करने का निश्चय करके क्रांति शब्द की परिभाषा बदलने का प्रयास किया जा रहा है। जदयू प्रवक्ता ने कहा कि भ्रष्टाचार और वंशवाद के जंजाल में फंसी कांग्रेस पार्टी अगर लोगों के बीच क्रांति का आह्वान करती है तो समझ लेना चाहिए कि इससे बड़ा झूठ कुछ और हो नहीं सकता।




Next Story