Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पखाना लगा तो जदयू विधायक ने जबरन हटवाया कंटेनमेंट जोन का बैरिकेड, वीडियो वायरल होने पर केस दर्ज

jdu mla gopal mandal forcefully remove containment zone barricading video viral Case filed on JDU MLA coronavirus Latest update

पखाना लगा तो जदयू विधायक ने जबरन हटवाया कंटेनमेंट जोन का बैरिकेड, वीडियो वायरल होने पर केस दर्ज
X

वायरल तस्वीर

नीतीश कुमार सरकार (Nitish Kumar Government) ने कोरोना वायरस (Corona Virus) की चेन को तोड़ने के लिए बिहार (Bihar) में 15 मई तक के लिए लॉकडाउन (Lockdown) का ऐलान किया है। बिहार में कोरोना के मामलों में होती बढ़ोतरी को देखते हुए कंटेनमेंट जोन जैसे उपायों को अपनाया जा रहा है। लेकिन सत्ताधारी पार्टी जदयू (JDU) के विधायक गोपाल मंडल उर्फ नरेंद्र कुमार नीरज (MLA Gopal Mandal alias Narendra Kumar Neeraj) का एक कारनामा सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसको लेकर बिहार सरकार (Government of Bihar) की जमकर किरकिरी हो रही है। वहीं अब खबर मिल रही है कि भागलपुर (Bhagalpur) प्रशान की ओर से जदयू गोपाल मंडल उर्फ नरेंद्र कुमार नीरज के खिलाफ कोरोना गाइडलाइन (Corona Guideline) का उल्लंघन करने पर मामला दर्ज करवाया गया है।

वायरल वीडियो में दिखाई दे रहा है कि रात का समय है और लकड़ी के एक बैरिकेड से कुछ दूरी पर एक वाहन खड़ा हुआ है। इसकी हेडलाइट्स जली हुई हैं। थोड़ी देर तक इंतजार करने के बाद कुछ लोग बैरिकेड को तोड़कर हटा देते हैं। रास्ता साफ होने पर वाहन वहां से चलता बनता है।

बताया जा रहा है कि उक्त वाहन में गोपालपुर विधानसभा से 3 बार चुने गए जदयू विधायक गोपाल मंडल उर्फ नरेंद्र कुमार नीरज सवार थे। वहीं विधायक गोपाल मंडल की ओर से वीडियो में अपने और अपने समर्थकों के होने की पुष्टि की गई है। यह पूरा मामला भागलपुर जिले के नवगछिया बाजार के पास घटित हुआ। इस इलाके को कोरोना संक्रमण के ज्यादा केस होने की वजह से कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया था। इसलिए वाहनों को रोकने के लिए बैरीकेडिंग की गई थी।

वायरल वीडियो पर विधायक का बयान सामने आया है। विधायक का कहना है कि यदि हम किसी को फोन करके बुला कर हटाने के लिए कहते तो हमपर केस हो सकता था। इसलिए हमने नहीं कहा। हम लड़ाकू आदमी हैं, हम सब काम अपने से करते हैं। किसी भी कार्यकर्ता को कुछ नहीं होने देंगे। हम स्वयं बंदूक राइफल लेकर उतरेंगे और जो देना होगा वो देंगे। हम उस समय प्रशासन में किससे कहते, हम तो वहां फंस गए थे। हमको पाखाना लगा हुआ था, हम वहां से कैसे निकलते। दोनों ही बात थी, पाखाना भी लगा हुआ था और भूख भी लगी हुई थी।

विधायक के खिलाफ प्रशासन ने दर्ज कराया केस

बैरीकेडिंग तोड़ने पर स्थानीय नौगछिया प्रशासन हरकत में आया। प्रशासन ने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं। साथ ही कहा है कि महामारी एक्ट के तहत कानून अनुसार कार्रवाई होगी। वहीं अब जानकारी मिल रही है कि इस हरकत को लेकर विधायक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

Next Story