Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पीएम की अपील पर बिजली की खपत घटी थी 55 फीसदी, तेजस्वी यादव ने बंद कराई तो मात्र एक प्रतिशत हुई कम : नीरज कुमार

जदयू नेता नीरीज कुमार ने कहा कि बिहार में तेजस्वी यादव की बातें बेअसर हैं। नीरज कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, नीतीश कुमार के आह्वान पर लाइट बंद की गई थी तो 14 अप्रैल को 55 प्रतिशत बिजली की खपत कम हुई थी। वहीं तेजस्वी यादव के आह्वान पर सिर्फ एक फीसदी बिजली की खपत कम हुई है।

jdu leader neeraj kumar said that tejashwi yadavs words in bihar are ineffective
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार के सूचना और जनसंपर्क विभाग के मंत्री एवं जदयू नेता नीरीज कुमार ने ट्वीट कर बिहार में राजद नेता तेजस्वी यादव द्वारा निजीकरण और बेरोजगारी के खिलाफ आयोजित किये गये लाइट बंद करो अभियान को फेल बताया है। नीरज कुमार ने कहा कि बिहार की जनता पर राजद नेता तेजस्वी यादव की बातों का कोई असर नहीं पड़ता है। उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव की लाइट बंद करने की अपील पर बिजली की खपत में सिर्फ एक प्रतिशत की कमी दर्ज हुई है।

नीरज कुमार ने कहा कि विपक्षी नेता तेजस्वी यादव को बिहार में अपनी औकात का अहसास हो गया होगा। नीरज कुमार ने बताया की कोरोना काल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीएम नीतीश कुमार के आह्वान पर बीते 14 अप्रैल को लाइट बंद की गई थी। लाइट बंद किये जाने से पहले बिजली की खपत 3828 मेगावाट थी। वहीं जब लाइट बंद की गई तो उस समय बिजली की खपत 1699 मेगावाट पर आ गई थी।



नीरज कुमार ने बताया कि कुल मिलाकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम नीतीश कुमार की अपील पर 55 प्रतिशत बिजली की खपत कम हो गई थी। नीरज कुमार ने कहा कि अब जब नेता प्रतिपक्ष एवं राजद नेता तेजस्वी यादव की अपील पर लाइटें बंद की गई तो बिजली की खपत में मात्र एक प्रतिशत की कमी दर्ज हुई है। नीरज कुमार ने बताया कि तेजस्वी के कहने पर लाइट बंद करने से पहले 5573 मेगावाट बिजली की खपत थी। जब तेजस्वी की अपील पर लाइट बंद हुई तो खपत घटकर 5517मेगावाट रही। जोकि बिजली की खपत में मात्र एक प्रतिशत की कमी आई। आपको बता दें राजद नेता तेजस्वी यादव ने बुधवार की रात को निजीकरण एवं बेरोजगारी के खिलाफ रात नौ बजे नौ मिनट के लिये लाइट बंद कर दीपक, मोमबत्तियां और लालटेन जलाये जाने की अपील की थी।


Next Story