Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

तीन दिनों से लापता मासूम बच्चे का शव बरामद, पड़ोसी नीतीश ने परिजनों को दी थी ये धमकी

बिहार के नवादा जिले से सनसनीखेज हत्या मामला सामने आया है। यहां पर चार दिनों से लापता बच्चे की हत्या कर दी गई है। मामले की सूचना गांव पहुंची पुलिस जांच-पड़ताल में जुट गई है।

Innocent child murdered after kidnapping in Nawada bihar crime news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) में लगातार हत्या (Murder), अपहरण (kidnapping) समेत तमाम तरह की आपराधिक वारदातें बढ़ रही हैं। अब ताजा हत्या और अपहरण मामला नवादा (Nawada) जिले के हिसुआ थाना क्षेत्र के ढेउरी ग्राम से सामने आया है। यहां पर अपहरण करने के बाद 6 वर्षीय मासूम बच्चे की हत्या (murder of innocent child) कर दी गई है। यह बच्चा पिछले 3 दिन से लापता (missing) था। इस संबंध में परिवार की ओर से स्थानीय पुलिस थाना में आवेदन देकर मामले की जांच कराए जाने की मांग उठाई गई थी। लेकिन तीन दिनों से लापता बच्चे का चौथे दिन शव बरामद किया गया है। बच्चे की लाश बरामद होने के बाद से ही पूरे इलाके में हड़कंप व्याप्त है। हिसुआ थाना प्रभारी ने बताया बच्चे के शव को घर से ही बरामद किया गया है। बच्चे की हत्या करने के बाद शव को गेहूं के बोरा में रख कर फेंका गया था। बच्चे की हत्या कर दिए जाने की सूचना मिलते ही परिजनों में चीख-पुकार मच गई है।

गांव में ही ट्यूशन पढ़ने के लिए गया था बच्चा

जानकारी के अनुसार हिसुआ थाना क्षेत्र के ढेउरी गांव में बीते गुरुवार को अजीत चौरसिया का 6 वर्षीय बेटा मंखुश कुमार गांव में ही ट्यूशन पढ़ने के लिए गया हुआ था। बेटा मंखुश घर से करीब 200 मीटर की दूरी पर ही पढ़ने गया था। जब मंखुश ट्यूशन पढ़ने के बाद वापस आ रहा था तो चंद्रिका प्रसाद चौरसिया के घर के पास पहुंचा था। उसी दौरान मंखुश (बच्चा) नीतीश कुमार उम्र 22 वर्ष के घर के पास से लापता हो गया। बच्चे के माता-पिता से नीतीश चौरसिया का विवाद हुआ था। इसके बाद नीतीश ने 10 दिनों पहले भी मंखुश के माता-पिता को धमकी दी थी कि वो तुम्हारे बेटे का अपहरण कर लेगा। धमकी के ठीक 11 वें दिन मखुश लापता हो गया। मंखुश की काफी खोजबीन की गई। लेकिन जब कुछ पता नहीं चला तो परिजनों ने हिसुआ पुलिस को पूरे मामले की शिकायत दी। सूचना पर हिसुआ पुलिस गाव पहुंची और मंखुश की खोज में नीतीश चौरसिया के घर की तलाशी ली गई। उसी दौरान मंखुश के दाहिने पैर की चप्पल नीतीश के घर के बाहर मिल गई। जिसको पुलिस कर्मियों ने खुद जब्त किया। इस पर पुलिस ने नीतीश को फोन लगाया तो उसने कहा कि वो कार्य कर रहा हैं। आधे घंटे बाद आएगा। पुलिस वाले वापस चले गए, पर नीतीश चौरसिया घर नहीं लौटा।

गंभीरता से मामले में चल रही तफ्तीश

दूसरी ओर मंखुश के पिता अजीत चौरसिया ने लिखित रूप से नीतीश चौरसिया के खिलाफ हिसुआ थाने में शिकायत दी है। मामले पर हिसुआ थाना अध्यक्ष राजीव कुमार पटेल ने बताया कि मामले को गंभीरता पूर्वक लिया गया है। मामले के सबंध में प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस तत्परता से कई जगहों पर छापेमारी कर रही है। पुलिस द्वारा खोजी कुत्ता की मदद भी ली जा रही है।

Next Story