Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रूपेश हत्याकांड: हत्या वाले दिन ऋतुराज की बाइक चला रहा था अभयानंद, 6 माह बाद ऐसे चढ़ा पुलिस के हत्थे

इंडिगो एयरलाइंस के पटना एयरपोर्ट स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड मामले में फरार चौथे आरोपी आर्यन जायसवाल उर्फ अभ्यानंद उर्फ मुनचुन उर्फ सन्नी को पटना पुलिस अरेस्ट कर लिया है। रूपेश सिंह की हत्या होने के अगले दिन अभ्यानंद बिहार से भाग गया था।

indigo field manager rupesh murder case Patna Police arrests Abhayanand partner of Rituraj
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना पुलिस (Patna Police) ने इंडिगो के फील्ड मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड के चौथे फरार आरोपी अभ्यानंद उर्फ आर्यन उर्फ मुनचुन उर्फ सन्नी को गिरफ्तार कर लिया है। अभ्यानंद स्थायी रूप से पटना जिले के सालिमपुर थाना क्षेत्र के घनसुरपुर का निवासी है। अभ्यानंद को बाइपास थाना इलाके के न्यू बाइपास में दबोचा गया है। जिस दिन रूपेश का मर्डर (Rupesh murder) हुआ था, उस दिन मुख्य आरोपी ऋतुराज की मोटरसाइकिल को अभ्यानंद चला रहा था।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार रुपेश को गोली मारने के बाद अभ्यानंद ही मोटरसाइकिल से ऋतुराज को लेकर घटनास्थल से फरार हुआ था। ऋतुराज ने अपनी गिरफ्तारी (arrest) के दौरान यह खुलासा किया था। जिसके बाद से पुलिस (Bihar Police) अभ्यानंद की तलाश कर रही थी। जानकारी के अनुसार अभ्यानंद ने पुलिस पूछताछ में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है।

मामले पर एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने जानकारी दी कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि बाइपास थाना क्षेत्र में अभ्यानंद मोटरसाइकिल पर सवार होकर कहीं जा रहा है। तुरंत पुलिस ने उस क्षेत्र को घेरा लिया। इस दौरान अभ्यानंद मास्क व हेलमेट पहनकर बाइक से वहां पहुंचा। पुलिस ने वहां से अभ्यानंद को अरेस्ट कर लिया। अभ्यानंद ने पुलिस पूछताछ में जानकारी दी कि एयरपोर्ट के पास ऋतुराज व रूपेश के बीच विवाद हुआ था। जहां ऋतुराज को रूपेश से माफी मांगनी पड़ी थी। इस अपमान का बदला लेने के लिए ऋतुराज ने तीन अन्य दोस्तों के साथ मिलकर रुपेश का मर्डर करने की साजिश रची थी।

अभ्यानंद कई राज्यों में छिपा

जानकारी के अनुसार, हत्याकांड का चौथा आरोपी अभ्यानंद घटना के बाद इन सात महीनों में कई राज्यों में छिपता रहा। अभ्यानंद पहले झारखंड फिर यूपी और बाद में उत्तराखंड के हरिद्वार भाग गया था। हाल के दिनों में ही अभ्यानंद हरिद्वार से वापस बिहार लौटा था। जिसकी जानकारी पुलिस टीम को मिल गई। याद रहे बीते 13 जून को अभ्यानंद के सालिमुपर स्थित घर की कुर्की शास्त्रीनगर थाना पुलिस द्वारा की गई थी।

अभ्यानंद पर हैं बाइक चोरी के आरोप

अभ्यानंद के खिलाफ पहले से भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। अभ्यानंद राजधानी पटना समेत कई दूसरे क्षेत्रों में बाइक की चोरी वारदात को अंजाम देता था। अभ्यानंद के खिलाफ सालिमपुर, कंकड़बाग थानों में पूर्व से कई मामले दर्ज दर्ज हैं। अभ्यानंद पर मारपीट को लेकर भी पूर्व में केस दर्ज हो चुका है। अभ्यानंद ऋतुराज के गिराह से संबंधित था। इसके अलावा ऋतुराज के साथ ही किराये के घर में रहता था।

12 तारीख पटना पुलिस के लिए साबित हुई विशेष

पटना पुलिस के लिए 12 तारीख विशेष साबित हुई है। पटना में 12 जनवरी को रूपेश सिंह की हत्या पुनाईचक स्थित कुसुम विलास अपार्टमेंट के सामने हुई थी। उस दौरान रूपेश अपनी कार में बैठे थे। इस वारदात के ठीक 6 माह बाद यानी कि 12 जुलाई को ही रूपेश हत्याकांड में फरार आखिरी बदमाश दबोचा गया है।

जल्द चार्जशीट दाखिल करेगी पुलिस

एसएसपी के अनुसार पटना पुलिस अभ्यानंद और अन्य आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगी। पुलिस मामले में स्पीडी ट्रायल कराए जाने की बात कह रही है। एसएसपी के अनुसार रूपेश सिंह की हत्या को लेकर पुलिस के पास अहम सबूत हैं। सीसीटीवी फुटेज भी उन्हीं सबूतों में शामिल हैं।

और पढ़ें
Next Story