Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सुशासन राज में 15 हजार 662 रेप, अब क्वारंटाइन सेंटर में नाबालिग से दुष्कर्म होना निंदनीय: तेजस्वी यादव

पटना के पीएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किशोरी के साथ हुई दुष्कर्म की घटना पर राजद नेता तेजस्वी यादव ने चिंता जताई। तेजस्वी ने कहा कि सुशासन राज में 15 हजार 662 महिलाओं के साथ दुष्कर्म हुए हैं व अब तो कोई बहन अस्पताल में भी सुरिक्षत नहीं है तो ऐसी निक्कमी सरकार को सत्ता बने रहने का हक नहीं है।

दुष्कर्म
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच में इलाजरत 15 वर्षीय लड़की के साथ दुष्कर्म की घटना हो जाने के बाद राजद नेता तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार पर निशाना साधा। तेजस्वी यादव ने बुधवार की देर रात फेसबुक पोस्ट के जरिए कहा कि बिहार के सुशासन बाबुओं की आंखों का पानी सुख चुका है। अगर कोई बहन अस्पताल में भी सुरक्षित नहीं है तो ऐसी निक्कमी, नाकारा और निर्लज्ज सरकार को सत्ता में रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है। इनकी अंतरात्मा कब जागेगी? तेजस्वी यादव ने सुशासन राज में 15 हजार 662 महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटनाएं सामने आने का आरोप लगाया है। वहीं तेजस्वी यादव ने कहा कि मुज़फ़्फ़रपुर बलात्कार कांड को कौन भुल सकता है।

पटना के पीएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती 15 वर्षीय किशोरी के साथ वहीं के गार्ड ने रेप किया। घटना आठ जुलाई की है। इस बाबत महिला थाना में पॉक्सो, रेप की धाराओं में प्राथमिकी दर्ज कर आरोपित गार्ड महेश प्रसाद को गिरफ्तार कर लिया गया है। दर्ज प्राथमिकी के अनुसार किशोरी चाइल्ड हेल्पलाइन को बाढ़ रेलवे स्टेशन पर भटकते हुए मिली थी। वहां से लाने के बाद कोरोना जांच के लिए पीएमसीएच के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया। आठ जुलाई की रात में ही गार्ड महेश प्रसाद किशोरी को बाथरूम की तरफ ले गया। वहीं पर बाथरूम में ले जाकर दुष्कर्म किया। नौ जुलाई को चाइल्ड हेल्पलाइन से एक और किशोरी आइसोलेशन सेंटर में आई। उसके पास फोन था। हिम्मत करके 14 जुलाई को किशोरी ने चाइल्ड हेल्पलाइन में कॉल करके बताया कि आप सुरक्षा के लिए भेजे थे, यहां मेरे साथ गार्ड अंकल ने दुष्कर्म किया। इसके बाद चाइल्ड हेल्पलाइन ने एसएसपी को मामले की जानकारी दी। इसके बाद महिला थाना ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपित गार्ड को गिरफ्तार कर लिया।

पीड़िता का 164 का बयान दर्ज करा दिया गया है। गुरुवार को पीड़िता की मेडिकल जांच करायी जाएगी। घटना के बाद पीएमसीएच की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल भी उठने लगे हैं। आखिरी इतनी पहरेदारी के बीच किशोरी के साथ दुष्कर्म जैसी घटना कैसे हो गई। घटना को लेकर महिला थानाध्यक्ष आरती जायसवाल मामले की छानबीन में जुट गई हैं।

Next Story