Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हॉस्टल में अल्पसंख्यक समुदाय की लड़कियों के लिए बुर्का पहनने का फरमान जारी, छात्राओं ने किया हंगामा

बिहार के भागलपुर में गर्ल्स हॉस्टल में मुस्लिम समुदाय की लड़कियों के लिए बुर्का पहनने का फरमान जारी हुआ है। वहीं छात्राएं इस फरमान का विरोध जता रही हैं और हॉस्टल में लड़कियों ने हंगामा भी किया।

Girls of minority community expressed displeasure over issue of decree to wear burqa in Bhagalpur Girls Hostel bihar latest news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) के भागलपुर (Bhagalpur) में स्थित एक गर्ल्स हॉस्टल (Girls Hostel of Bhagalpur) सुर्खियों में आ गया है। क्योंकि भागलपुर के इस गर्ल्स हॉस्टल में अल्पसंख्यक समुदाय की लड़कियों के लिए (for girls from minority community) बुर्का पहनने के लिए फरमान जारी (decree issued for wearing burqa) हुआ है। इसको लेकर अल्पसंख्यक समुदाय की लड़कियों ने हॉस्टल परिसर में जोरदार हंगामा (Huge commotion in hostel) भी किया। हॉस्टल सुप्रीटेंडेंट द्वारा परिसर के अंदर बुर्का पहनने का फरमान जारी किया गया है। जिसके खिलाफ में छात्राओं ने नाराजगी जाहिर की (girls expressed their displeasure) है।

यही नहीं छात्राओं ने फमान के विरोध में हॉस्टल के गेट पर भी पथराव किया। आक्रोशित छात्राओं का कहना है कि वो शरिया कानून (sharia law) बर्दाश्त नहीं करेंगी। एक छात्रा ने बताया है कि जब भी वो पैंट पहनती हैं तो अधीक्षक द्वारा छात्राओं को गालियां दी जाती हैं। साथ ही अधीक्षक द्वारा हमारे परिजनों को भी गलत सूचनाएं दी जाती हैं। कहते हैं कि हम लड़कों से बात करती हैं।

वहीं एक रिसर्च स्कॉलर छात्रा ने बताया है कि बिहार में गर्मी के मौसम में बुर्का पहनना काफी कठिन होता है। इस कारण हम कभी-कभी परिसर में पैंट व टीशर्ट पहन लेती हैं। जब भी वो किसी लड़की को पैंट में देखती हैं तो डांट और फटकार लगाती हैं। मामले की जानकारी पर नाथ नगर की सर्कल ऑफिसर पुलिस टीम के साथ गर्ल्स हॉस्टल पहुंची और स्थिति को काबू में किया।

दूसरी ओर हॉस्टल की अधीक्षक ने छात्राओं की तरफ से खुद पर लगाए आरोपों को गलत बताया है। यह केस अब जिला शिक्षा अधिकारी तक पहुंचा है। सर्कल ऑफिसर ने कहा कि उनके द्वारा हॉस्टल अधीक्षक और छात्राओं के बयान ले लिए गए हैं। मामले की जांच-पड़ताल शुरू कर दी गई है। जल्द ही यह जांच रिपोर्ट हमारे द्वारा जिला शिक्षा अधिकारी को रिपोर्ट सौंप दी जाएगी।

Next Story