Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बाढ़ : गोपालगंज और पूर्वी चंपारण में टूट गया गंडक नदी का बांध, एक लाख लोग प्रभावित, एक किशोर तेज धारा में बहा

नेपाल, उत्तर बिहार में पिछले कई दिनों से हो रही बारिश के चलते गंडक नदी उफान पर बह रही है। गोपालगंज, पूर्वी चंपारण में शुक्रवार को गंडक का बांध तीन जगह टूट गया। बांध टूटने से करीब 1000 गांव में बाढ़ का पानी भर गया है। लोग जान बचाने के लिए ऊंचे स्थानों की ओर जा कर रहे हैं। दोनों जिले के करीब एक लाख लोग प्रभावित हैं व एक किशोर तेज धारा में बह गया है।

flood gandak river dam breaks in gopalganj and east champaran, affecting one lakh people shedding in a teenage fast current
X
गोपालगंज और पूर्वी चंपारण में टूट गया गंडक नदी का बांध

बिहार के गोपालगंज जिले के बरौली प्रखंड में देवापुर के पास सारण मुख्य बांध टूट गया है। जिससे पानी तेजी से नेशनल हाइवे 28 की ओर बह रहा है। नेशनल हाइवे पर पानी का दबाव बढ़ गया है, जिससे इसके कटने का खतरा है। हादसा रोकने के लिए कई जगह बैरिकेडिंग की गई है। वहीं, देवापुर में पानी की तेज धारा में एक 12 वर्षीय किशोर बह गया है। उसकी तलाश की जा रही है। देवापुर के बाद मांझागढ़ के पुरैना में भी सारण बांध टूट गया है, जिससे इलाके में अफरा-तफरी का माहौल है।

पूर्वी चंपारण जिले के संग्रामपुर प्रखंड के दक्षिणी भवानीपुर पंचायत के निहालु टोला में करीब 10 फीट की चौड़ाई में गंडक नदी पर बना चंपारण बांध टूट गया। बांध टूटने का दायरा बढ़ रहा है। तेजी से आस-पास के करीब 600 गांवों को पानी अपनी जद में ले रहा है, जिससे गांव के लोग घर छोड़कर ऊंचे स्थान की ओर पलायन कर रहे हैं। राज्यमार्ग- 74 पर भी पानी चढ़ने लगा है। दक्षिणी भवानीपुर में गांव होकर नदी ने धारा बनाया है। डीएम व एसपी कैंप कर रहे हैं। एनडीआरएफ की कई टीम भी मौके पर तैनात हैं। जवान लोगों को बचाकर सुरक्षित स्थान तक ले जा रहे हैं।

दरभंगा समस्तीपुर रेलखंड पर ट्रेन परिचालन बंद

हायाघाट मुंडा पुल तक पानी पहुंच जाने के चलते रेलवे ने सावधानी बरतते हुए दरभंगा समस्तीपुर रेलखंड पर ट्रेन परिचालन बंद कर दिया है। बिहार संपर्क क्रांति का रूट बदला गया है। अब ट्रेन सीतामढ़ी होकर जाएंगी।

Next Story