Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बीते 24 घंटों में वज्रपात से 3 बच्चों समेत 5 लोगों ने तोड़ा दम, एक महिला की स्थिति बनी चिंताजनक

बिहार के रोहतास जिले में वज्रपात ने एक बार फिर से कहर बरपाया। जिले में रविवार को वज्रपात से तीन लोगों की मौत हो गई। इससे पहले शनिवार को भी इससे दो बच्चों की जान निकल गई थी।

Five people died due to thunderstorm in Madhubani bihar latest news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) के सासाराम (sasaram) जिले में वज्रपात (Thunderclap) की वजह से कई जगहों पर दर्दनाक हादसे (painful accident) हो गए हैं। जानकारी के अनुसार रोहतास (Rohtas) जिले के शिवसागर थाना क्षेत्र में अलग-अलग जगहों पर आकाशीय बिजली (Lightning) गिरने से पांच लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। यह जानकारी बीते 24 घंटे की है। इनमें से वज्रपात की वजह से 3 लोगों की मौत (death by lightning) रविवार को हुई। मरने वालों एक 12 वर्षीय बच्चा और एक महिला भी शामिल है। शिवसागर थाना क्षेत्र के सिंघमपूरा गांव में 55 वर्षीय सुरेश सिंह की वज्रपात से मौत हुई है। इसके अलावा आलमपुर गांव का 14 वर्ष लड़का बिट्टू कुमार पशुओं को जंगल में चराने गया हुआ था। इसी दौरान वज्रपात से झुलस गया और मौके पर ही दम तोड़ दिया। शिवसागर थाना क्षेत्र में रविवार को आकाशीय बिजली से जुड़ी दर्दनाक तीसरी घटना सिकंदरपुर गांव से सामने आई। यहां धान की रोपाई करते वक्त वज्रपात से झुलसकर 18 वर्षीय संगीता कुमारी की मौत हो गई। इस दौरान तीन अन्य महिलाएं भी वज्रपात से झुलस गईं। जिनमें से एक महिला की हालत गंभीर बताई जा रही है।

घायल महिलाओं का यहां हो रहा उपचार

जानकारी के अनुसार गंभीर रूप से घायल तीनों महिलाओं का उपचार सासाराम के सदर अस्पताल स्थित ट्रामा सेंटर में जारी है। इनमें 44 वर्षीय लालपरी देवी व पिंकी कुमारी को खतरे से बाहर बताया जा रहा है। वहीं अस्पताल में नगलातो देवी की हालत नाजुक बताई जा रही है। वज्रपात जनित हादसे में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को जिला प्रशासन मुआवजा देने की तैयारी कर रहा है।

आधा दर्जन लोग बताए जा रहे घायल

आपको बता दें कि शिवसागर थाना क्षेत्र में शनिवार को भी वज्रपात के कहर से 2 बच्चों की मौत हुई थी। इसके अलावा दो अन्य लोग जख्मी हो गए थे। शिवसागर थाना क्षेत्र में बीते 24 घंटे में कुल 5 लोगों की वज्रपात की वजह से मौत हो गई हैं। वहीं बीते 24 घंटे में इससे आधा दर्जन लोग घायल हुए हैं। हादसों के दौरान जान गंवाने वालों में कुल तीन बच्चे शामिल हैं। इन दिनों राज्य में धान की रोपनी का कार्य चल रहा है। इस वजह से किसान समेत अन्य लोग खुले मैदान में हैं। जिससे वज्रपात जनित दुर्घटना ज्यादा हो रही हैं। वहीं सदर एसडीओ मनोज कुमार हादसों के दौरान जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को मुआवजा देने तैयारी कर रहे हैं। वहीं जिला प्रशासन की ओर से धान की रोपनी करते वक्त किसान समेत सभी लोगों से सतर्कता बरने की अपील की है।

और पढ़ें
Next Story