Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रेप पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए अधिकारी पति के खिलाफ खड़ी हुईं पत्नी, कहा- बच्ची के साथ किया था गंदा काम

बिहार के गया जिले से एक बड़ी खबर सामने आई है। यहां पर 4 साल पहले एक दलित बच्ची के साथ रेप हुआ था। उस वक्त ये मामला दब गया था। लेकिन अब पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए खुद आरोपी अधिकारी की पत्नी खड़ी हो गई हैं।

DSP Kamalakant wife testified against husband in Gaya court to get justice for rape victim minor girl bihar crime news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) के गया (Gaya) से एक रोचक खबर सामने आई है। क्योंकि यहां पर रेप पीड़ित बच्ची (rape victim girl) को न्याय दिलाने के लिए एक महिला खुद अपने आरोपी पति के सामने खड़ी हो गई (Woman stood in front of accused husband) है। जानकारी के अनुसार चार साल पहले गया में डीएसपी द्वारा दलित बच्ची का दुष्कर्म (rape of dalit girl) किया गया था। वहीं अब इस Rape पीड़ित दलित बच्ची को नया मददगार मिल गया है। यह मददगार कोई और नहीं, बल्कि आरोपी डीएमपी कमलकांत की पत्नी (Wife of accused DMP Kamalkant) ही हैं। जिन्होंने एक बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि उस समय पीड़ित दलित नाबालिग बच्ची के भाई ने इस मामले की शिकायत की थी। लेकिन उस वक्त रसूखदर, पद और ओहदे के वजह से रेप पीड़ित नाबालिग दलित बच्ची की आवाज दबा दी गई। जानकारी के अनुसार गया के तत्कालीन डीएसपी कमलाकांत की पत्नी गया व्यवहार न्यायालय (Gaya court) में अपना बयान दर्ज करवाने के लिए पहुंची हुई थीं।

रेप मामले में आरोपी डीएसपी की पत्नी ने खुलासा करते हुए बताया कि इस गंदे काम की जानकारी पीड़ित नाबालिग दलित बच्ची ने उन्हें घर पर जाकर बताई थी। उस वक्त भी महिला थाने को भी इस प्रकरण की सूचना दी गई थी। उस दौरान रेप पीड़ित बच्ची के भाई द्वारा इस दुष्कर्म (Rape) की वारदात की शिकायत लिखित में पुलिस (Police) को दी गई थी और न्याय की गुहार लगाई गई थी। लेकिन रसूखदार होने की वजह से रेप मामले के आरोपी डीएसपी कमलाकांत के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। आरोपी की पत्नी का कहना है कि उनके पति ने इस पूरे मामले को दबा लिया था। जानकारी के अनुसार डीएसपी कमलाकांत साल 2017 में गया मुख्यालय में डीएसपी के पद पर तैनात थे।

आज करीब चार वर्ष बाद इस रेप मामले ने एक बार फिर से तूल पकड़ लिया है। मामले पर क्राइम ब्रांच के सब इंस्पेक्टर हरेंद्र कुमार ने बताया कि यह रेप मामला वर्ष 2017 का है। उस वक्त कमलाकांत गया मुख्यालय में डीएसपी थे। उस दौरान पटना से लाई गई एक नाबालिग बच्ची को गया में कमलाकांत के घर पर काम करने के लिए लाया गया था। पर डीएसपी कमलाकांत ने उस बच्ची के साथ दुष्कर्म कर दिया। इस पूरे मामले की जानकारी पीड़ित नाबालिग बच्ची ने अपने भाई को दी थी। पर उस वक्त डीएसपी कमलाकांत के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई। वहीं उन्होंने बताया कि आज 2021 के जून महीने में इस घृणित कुकृत्य की गवाही रेप आरोपी डीएसपी की पत्नी ने गया के व्यवहार न्यायालय में दर्ज कराई है।

Next Story