Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोनावायरस : सीएम नीतीश ने दिया निर्देश, बिहार में 20 हजार सैंपल की प्रतिदिन हो जांच

सीएम नीतीश कुमार ने बिहार में प्रतिदिन 20 हजार लोगों के कोरोना संक्रमण के सैम्पल की जांच कराने का निर्देश दिया है। जिसको लेकर सैम्पल जांच का दायरा बढ़ाने की तैयारी जोर-शोर से चल रही है। 10 हजार प्रतिदिन जांच का लक्ष्य प्राप्त कर लिया गया है। बुधवार को भी 10 हजार 245 लोगों के सैंपल की जांच भी की गई।

coronavirus cm nitish gave instructions 20 thousand samples should be examined daily in bihar
X
बिहार के सीएम नीतीश कुमार

सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सचिव अनुपम कुमार ने प्रेस वार्ता में गुरुवार को बताया कि सभी जिलों में जांच शुरू कर दी गई है, जिसे अब और निचले स्तर तक ले जाना है। कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने के लिए जांच की क्षमता बढ़ाने पर राज्य सरकार को मुख्य फोकस है।

मुख्यमंत्री नीतश कुमार ने पदाधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि वैसे मरीज जिन्हें कोरोना संक्रमण के स्पष्ट लक्षण हैं, या हाई रिस्क कॉन्टेक्ट वाले हैं, वे किसी भी चिह्नित जगह पर जाकर अपनी जांच करा सकें, ऐसी व्यवस्था सुनिश्चत करें। चिह्नित जगहों पर एंडीजन जांच की भी व्यवस्था हो।

सीएम ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम व इससे बचाव को लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) स्तर पर चिकित्सकों को शीघ्र ही प्रशिक्षण देने का निर्देश दिया है। ताकि होम क्वारंटाइन में रह रहे संक्रमितों या संदिग्धों को क्या-क्या सावधानी बरतनी है, इसकी विस्तृत जानकारी पीएचसी स्तर पर भी हो। इससे होम क्वारंटाइन में रह रहे लोग दिशा-निर्देशों का पालन कर कोरोना वायरस के प्रसार को फैलने से रोक सकेंगे। इसके लिए पंप्लेट का भी वितरण किया जाएगा, जिसपर विस्तृत जानकारी रहेगी। सीएम ने अधिक-से-अधिक बेड तक ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश भी स्वास्थ्य विभाग और सभी जिलों को दिया है। इसके अलावा आइसोलेशन बेड की संख्या और अधिक बढ़ाने को कहा है। सीएम ने यह भी निर्देश दिया कि कुछ अन्य अस्पतालों को भी चिह्नित कर वहां नई सुविधाएं विकसित की जाएं।

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में कोरोना संक्रमितों के ठीक होने की दर राष्ट्रीय औसत की तुलना में बेहतर है। इसलिए लोगों को डरने व इससे पैनिक होने की जरूरत नहीं है। लोग सतर्क, सुरक्षित रहें। सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों को पालन अवश्य करें। सोशल डिस्टन्सिंग और मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करें।

Next Story