Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना वायरस: केंद्रीय टीम ने बिहार में अधिक से अधिक लोगों की जांच कराने पर दिया जोर

बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम ने पटना के हालातों का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान केंद्रीय टीम ने सूबे के अधिकारियों को अधिक से अधिक जांच कराने पर जोर देने का सुझाव दिया। इसके अलावा लोगों ने भी केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव को जांच कम होने की समस्या बताई।

corona virus central team insists on getting more people investigated in bihar
X
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम ने बढ़ते कोरोना वायरस को लेकर पटना में किया निरीक्षण

केंद्रीय टीम ने राजीव नगर बफर जोन के अलावा पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स व एनएमसीएच कोरोना अस्पताल का निरीक्षण किया। केंद्रीय उच्च स्तरीय टीम रविवार दोपहर को राजीव नगर पहुंची। राजीव नगर में सख्ती रही। सड़क पर घूमने वाले को फटकार मिली। लोग घरों में ही रहे। टीम के पदाधिकारी राजीव नगर के उन इलाकों में गए, जहां मरीज मिले हैं। अधिकारियों ने दूर से ही लोगों से बातचीत की व व्यवस्थाओं के बारे में उनसे जानकारी ली। अधिकारियों की टीम ने पांच घरों का मुआयना किया। वहां रह रहे लोगों की दिनचर्या से संबंधित जानकारी ली। रास्ते से गुजर रहे लोगों से केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव लव अग्रवाल ने समस्याएं पूछीं। इस पर लोगों का कहना था कि वे चाहते हैं कि कोरोनावायरस की जांच हो पर नहीं हो पा रही है। हालांकि मौके पर उपस्थित डीएम कुमार रवि ने टीम को जानकारी दी कि पटना में हाल ही में 25 अस्पतालों में कोरोना वायरस संक्रमण की जांच की व्यवस्था की गई है। केंद्रीय टीम ने कंटेनमेंट जोन में डोर टू डोर सर्वे व अधिक से अधिक लोगों की जांच करने की सलाह दी। इसके बाद प्रशासन की तरफ से रणनीति तय की जा रही है कि इन दो बिंदुओं पर विशेष अभियान चलाया जाए।

प्रशासन द्वारा केंद्रीय टीम को बताया गया कि राजीव नगर के रोड नंबर एक से 22 तक बफर जोन घोषित किया गया है। इस इलाके में केवल अनिवार्य सेवाएं ही बहाल रखी गई हैं तथा अन्य गतिविधियों पर रोक लगा दी गई है। टीम को राजीव नगर और कंकड़बाग में से किसी एक क्षेत्र में जाना था। अधिकारियों की टीम जैसे ही राजीव नगर पहुंची, आसपास के लोग सक्रिय हो गए। हालांकि राजीव नगर में कुछ सामाजिक संगठनों के लोग केंद्रीय स्वास्थ्य टीम से मिलना चाहते थे पर पुलिस वालों ने उन्हें दूर ही रोक दिया।

बाद में अधिकारियों की टीम पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कांप्लेक्स गई, जहां जिला प्रशासन द्वारा कोविड-19 सेंटर बनाया गया है। निरीक्षण के दौरान अधिकारियों को डीएम द्वारा व्यवस्था की जानकारी दी जा रही थी। बताया गया कि इसी कोविड-19 सेंटर के रूप में बनाया गया है। यहां मरीजों को रखने की व्यवस्था की गई है। हालांकि अधिकारियों ने मौके पर अपनी प्रतिक्रिया तो नहीं दी पर मुख्य बिंदुओं को डायरी में नोट किया और चले गए। केंद्रीय स्वास्थ्य टीम के कंटेनमेंट जोन से चले जाने के बाद डीएम कुमार रवि ने अधिकारियों के साथ बैठक बुलाई और शहर के कंटेनमेंट जोन से संबंधित व्यवस्था पर बैठक की।

Next Story