Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पटना में कोरोना संक्रमण तेजी से पांव पसार रहा, एम्स का नर्सिंग स्टाफ हड़ताल पर

बिहार की राजधानी पटना में कोरोना संक्रमण तेजी से पांव पसार रहा है। इस बीच गुरुवार को पटना एम्स में संविदा पर तैनात नर्सिंग स्टॉफ हड़ताल पर चले गए हैं। संविदा पर तैनात नर्सिंग स्टॉफ अपनी नौकरी स्थाई करने की मांग कर रहे हैं।

corona infection in Patna is fast gaining ground the nursing staff of Patna aiims goes on strike
X
पटना एम्स के संविदा पर तैनात नर्सिंग स्टॉफ हड़ताल पर चले गए

जानकारी है कि जिला प्रशासन ने वहां पर मजिस्ट्रेट व पुलिस बल की तैनाती कर दी है। गेट पर आने-जाने वालों की जांच की जा रही है ताकि बाहरी लोग अनावश्यक रूप से पटना एम्स में प्रवेश नहीं कर पाएं। एनएमसीएच में संविदा पर बहाल सहायक और सह प्राध्यापक डॉक्टर चार माह के वेतन भुगतान की मांग को लेकर कार्य बहिष्कार पर जाएंगे। संविदा बहाल डॉक्टरों ने बताया कि हम लोग इस डेडिकेटेड कोरोना अस्पताल में स्वास्थ्य विभाग और स्थानीय प्रशासन के मौखिक आदेश के बावजूद भी कार्यरत हैं। लेकिन अप्रैल माह से वेतन नहीं मिल रहा है। उन्होंने बताया कि ऐसी स्थिति में उन लोगों का भविष्य ऊहापोह की स्थिति में है। संविदा अवधि मई माह में समाप्त हो गई है। पर न तो सेवा विस्तार का पत्र मिला है व न ही वेतन। ऐसे में हमलोग प्राचार्य डॉ. हीरालाल महतो से भी मिलकर समस्याओं को रखा है। फिलहाल अस्पताल में डेढ़ दर्जन डॉक्टर संविदा पर बहाल हैं। यदि शीघ्र ही वेतन भुगतान नहीं किया गया तो सभी संविदा बहाल डॉक्टर या तो कार्य बहिष्कार करेंगे या फिर हड़ताल पर चले जाएंगे। प्राचार्य ने बताया कि इनकी समस्याओं को लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से बात हो चुकी है। शीघ्र ही वेतन व संविदा सेवा अवधि विस्तार हो जाएगा।

कोरोना मरीजों की कर रहे हैं देखभाल पर जॉब सिक्योरिटी नहीं

हड़ताल कर रही एक नर्स ने बताया कि हम लोगों की ड्यूटी कोरोना मरीजों के वार्ड में लगी है। हम लोग कोरोना के मरीजों की देखभाल कर रहे हैं पर कोई जॉब सिक्योरिटी नहीं है। सरकार ने कोरोना के मरीजों के इलाज में लगे स्वास्थ्य कर्मियों का वेतन बढ़ाया है पर हमलोगों को इसका लाभ नहीं मिला है। अगर हम लोगों की नौकरी चली जाती है तो हमारे पास यह दिखाने के लिए कोई डॉक्यूमेंट नहीं है कि हमने एम्स में काम किया है। मेरे साथ काम करने वाली नर्सें कोरोना की शिकार हुईं हैं उनके लिए भी सुविधा नहीं है। हमारे परिवार के लिए भी कोई सुरक्षा नहीं है।

पटना में बुधवार को मिले 444 संक्रमित मरीज

आपको बता दें कि पटना में कोरोना संक्रमण तेजी से पांव पसार रहा है। बुधवार को शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर हुई जांच में 25 फीसदी लोग संक्रमित पाए गए हैं। पटना शहरी क्षेत्र के 25 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर बुधवार को 444 लोगों की जांच की गई, जिनमें 108 लोग संक्रमित पाए गए।

Next Story