Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Corona Epidemic: बिहार में नौ महीने बाद खुले स्कूल तो लौटी रौनक, लेकिन बरतनी होंगी ये सावधानियां

Corona Epidemic: बिहार में कोरोना महामारी के बीच नौ महीने बाद 9 से 12 वीं के स्कूल, कॉलेज और कोचिंग सेंटर खुल गये हैं। वहीं पटना के एक स्कूल की तस्वीरें भी सामने आई हैं।

corona epidemic school opens after nine months with various etiads in bihar
X

पटना: स्कूल में प्रवेश से पहले बच्चों की थर्मल स्कैनिंग की गई। 

बिहार में कोरोना महामारी के बीच सोमवार से 9वीं से 12वीं के सरकारी स्कूल, कॉलेज व निजी कोचिंग सेंटर में पठन-पाठन शुरू हो गया है। जानकारी के अनुसार, पटनासेंट माइकल हाई स्कूल, पटना के राजकीय बालिका उच्च विद्यालय चितकोहरा, कमला नेहरू स्कूल समेत भागलपुर के चुनिहारी टोला झुनझुनवाला आदर्श बालिका उच्च विद्यालय, मारवाड़ी पाठशाला स्कूल सहित सूबे के सभी स्कूलों में करीब 50 प्रतिशत तक बच्चों की उपस्थिति रही। इस दौरान बच्चे कक्षाओं में भी दूर-दूर बठाये गये। स्कूलों में बच्चों के प्रवेश करने से पहले कोरोना वायरस को लेकर थर्मल स्कैनिंग भी की गई। बताया जा रहा है कक्षा शुरू होने से पहले स्कूलों में बच्चों को मास्क भी बांटे गये। स्कूल प्रशासन द्वारा बच्चों को कोरोना गाइडलाइन से भी रूबरू कराया गया। बिहार सरकार ने प्रदेश में कोरोना महामारी के बचाव के तहत, सभी स्कूल में 50 प्रतिशत बच्चों की मौजूदगी में ही सभी एहतियात का पालन करते पठन-पाठन शुरू करने का निर्देश जारी किया है।

याद रहे, कोरोना महामारी के मद्देनजर सबसे पहले लॉकडाउन के साथ ही (14 मार्च 2020) बिहार में सभी स्कूल, कॉलेज और निजी कोचिंग सेंटर बंद हैं। वहीं करीब 9 नौ माह बाद यानि कि 296 दिनों की बंदी के बाद आज बिहार में सभी शिक्षण संस्थान खुलने से इनमें एक बार फिर से रौनक लौट आई है। अब बच्चों को ऑनलाइन कक्षाओं से मुक्ति मिल जायेगी।

एक शिक्षिका ने बताया कि पटना में आज से 9वीं-12वीं कक्षा के छात्रों के लिए स्कूल खुल गए हैं। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा दिए गए दिशानिर्देशों का हम पालन कर रहे हैं। यहां सामाजिक दूरी का पालन किया जा रहा है। 50 प्रतिशत बच्चों को बारी-बारी से बुलाया जा रहा है।

प्रशासन की ओर से अभिभावकों और स्कूलों को मिली ये गाइडलाइन

बच्चों को ग्लव्स, मास्क व वाटर बोटल देकर स्कूल भेजें

छात्र को उनके शिड्यूल के अनुसार ही स्कूल भेजें

टिफिन बॉक्स में घर का बना खाना ही दिया जाये

स्कूल बैग में मास्क और हैंड सेनेटाइजर जरूर रखें

स्कूल में छात्र एक-दूसरे के बीच कुछ भी साझा न करें, इसकी तुरंत सूचना दें

स्कूलों को मिले ये निर्देश

स्कूल को प्रतिदिन सेनेटाइज किया जाये

रविवार को स्कूल खोलने से पहले अभिभावक से अनुमति लें

स्कूलों में 50 फीसदी छात्रों को सम या विषय रोल नंबर के अनुसार बुलाया जाये

प्रतिदिन प्रवेश द्वार, पुस्तकालय, प्रयोगशाला, शौचालयों आदि को सेनेटाइज करें

हाथ धोने के लिए हैंडवाश जरूर रखें

यदि किसी शिक्षक या अन्य कर्मचारी को जुकाम, खांसी या बुखार हो तो उन्हें स्कूल न बुलाएं

Next Story