Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सीएम नीतीश कुमार चुनाव से पूर्व करवायें प्राथमिक शिक्षकों की बहाली : युवा कांग्रेस

बिहार युवा कांग्रेस ने बुधवार को अपने रोजगार दो अभियान के तहत सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिखकर प्राथमिक शिक्षकों की बहाली चुनाव पूर्व कराने की मांग की है। वहीं युवा कांग्रेस ने सीएम से अपने डेलिगेशन से मिलने के लिये समय भी मांगा है।

cm nitish kumar gets initial teachers reinstated before elections youth congress
X
बिहार के सीएम नीतीश कुमार

बिहार युवा कांग्रेस के अध्यक्ष गुंजन पटेल ने बुधवार को ट्वीट कर बताया कि हमने अपने रोजगार दो अभियान के तहत सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिखकर प्राथमिक शिक्षकों की बहाली चुनाव पूर्व कराने की मांग की है। साथ ही युवा कांग्रेस ने सीएम से मिलने के लिये समय मांगा है। वहीं युवा कांग्रेस ने सीएम को लिखे पत्र को सोशल मीडिया पर भी जारी किया है। जारी पत्र के अनुसार युवा कांग्रेस ने बताया कि बिहार की आबादी का एक बड़ा हिस्सा कठिन परिस्थितियों से गुजर रहा है। कोरोना महामारी और बाढ़ की दोहरी मार तमाम बिहार वासियों की कमर तोड़ रही है। जिससे बेरोजगारी दर लगातार बढ़ रही है। सीएमईआई की रिपोर्ट के आधार पर करीब 46 से 49 प्रतिशत है। ऐसे समय में जब बेरोजगारों की संख्या तेजी से बढ़ती जा रही है तो वहीं दूसरी ओर लाखों पढ़े लिखे युवा बहाली के लिये अटके पड़े लाखों पदों की ओर उम्मीदों भरी निगहाओं से देख रहे हैं। वहीं गुंजन पटेल ने बताया कि वे इस पत्र के जरिये प्राथमिक शिक्षकों की नियोजन की तरफ ध्यान दिलाना चाहते हैं। राज्य में लाखों टीईटी उतीण छात्र 2011 से ही बहाली की बाट जोह रहे हैं। हालांकि एक लंबे समय बाद 2019 में बहाली की प्रक्रिया शुरू तो हुई थी, लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी बहाली प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई है। इनमें से विभिन्न अभ्यार्थी गरीब, वंचित वर्गों से आते हैं। जिनको बीएड एवं डीएलएड की पढ़ाई तक के लिये कर्ज लेना पड़ता है। पर इतने लंबे समय इंतजार करने के बाद भी निराशा ही हाथ लगी है। इन अभ्यर्थियों में से एक बड़ा हिस्सा अवसाद से गुजर रहा है। बहाली में बिलंब होने की वजह से दो लोगों ने कुदकुशी भी कर ली है।

लाखों युवाओं का भविष्य बचा लें सीएम: गुंजन पटेल

गुंजन पटेल ने कहा कि हमें यह भी जानकारी है कि मामला न्यायालय में विचाराधिन है। लेकिन वे एक आम बिहारी युवक होने के नाते आपसे पूछना चाहते हैं कि आखिर हर एक बहाली का मामला न्यायलय में ही क्यों पहुंचता है? आखिर समस्या क्या है? क्या किसी भी बहाली प्रक्रिया को बिना विवाद के न्यायालय में गये पूरा नहीं किया जा सकता है? वहीं उन्होंने कहा कि जब अदालत ने अपने आदेश में नियोजन की प्रक्रिया पर रोक नहीं लगाई है तो सरकार सूची बनाने और प्रक्रिया को आगे बढ़ाने के देरी क्यों कर रही है। उन्होंने कहा कि आप बिहार के मुखिया हैं व हम सब के अभिभावक हैं। अत: आपसे निवेदन है कि आप लाखों युवाओं को अंधकार में डूबने से बचा लें। यह सिर्फ किसी एक परिवार का मामला नहीं है, अपितु समूचे बिहार का भविष्य है। इसकी के साथ युवा कांग्रेस ने सीएम से मांग की कि वे बहाली की प्रक्रिया को चुनाव से पूर्व करा लें, जिससे लाखों युवाओं का भविष्य बच जाये।




Next Story