Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पिता की जयंती पर बोले चिराग पासवान- 'आशीर्वाद यात्रा' के माध्यम से ऐसे हासिल करेंगे लोगों का भरोसा

बिहार की सियासत एक बार फिर से गरमा गई है। क्योंकि चिराग पासवान ने आज से यानी अपने दिवंगत पिता रामविलास पासवान की जयंती के मौके से आशीर्वाद यात्रा शुरू करने जा रहे हैं। इस दौरान चिराग के निशाने पर चाचा पशुपति कुमार पारस होंगे।

Chirag Paswan told purpose of Aashirwad Yatra On birth anniversary of Ram Vilas Paswan bihar politics
X

चिराग पासवान

बिहार की सियासत (Bihar politics) में एक बार फिर से गरमाहट आ गई है। आज पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं एलजेपी (LJP) संस्थापक रामविलास पासवान की जयंती (Ram Vilas Paswan birth anniversary) है व इस अवसर पर उनके पुत्र चिराग पासवान (Chirag Paswan) ने चाचा पशुपति कुमार पारस (Pashupati Kumar Paras) के साथ जंग की घोषणा कर दी है। चिराग पासवान ने अपने चाचा पशुपति कुमार पारस के खिलाफ कई गंभीर आरोप भी लगाए हैं।

जानकारी के अनुसार अपने दिवंगत पिता रामविलास पासवान की जयंती के मौके पर उनके बेटे एवं एलजेपी सांसद चिराग पासवान आशीर्वाद यात्रा निकालने जा रहे हैं। आशीर्वाद यात्रा (Aashirwad Yatra of Chirag Paswan) की शुरुआत से पहले दिल्ली में चिराग पासवान ने अपनी मां व अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ पिता रामविलास पासवान की जयंती पर 'पासवान' नाम की पुस्तक का विमोचन किया। इस दौरान चिराग पासवान ने मीडिया कर्मियों से बातचीत की। चिराग ने कहा कि वे शेर के बेटे हैं, कभी भयभीत नहीं होंगे, चाले लोग उन्हें तोड़ने के लिए कितनी भी प्रयास कर लें। उस वक्त अपने दिवंगत पिता को याद करते हुए चिराग पासवान भावुक भी हो गए।

वहीं चिराग पासवान ने बताया कि बिहार जनता ही उनकी ताकत है। आज वो और उनकी मां अकेले हैं। यदि चाचा पशुपति कुमार पारस भी इस मौके पर उनके साथ खड़े होते, पर वे नहीं हैं। चिराग ने कहा कि एक परिवार ने हमें धोखा दे दिया, पर दूसरा परिवार यानी कि बिहार की जनता हमारे साथ है। हम बिहार में हाजीपुर से आशीर्वाद यात्रा की शुरुआत करने जा रहे हैं। यह यात्रा बिहार के हर जिले से होती हुई गुजरेगी। इसका एक ही लक्ष्य है, सबके पास जाना और आशीर्वाद लेना। मुझे किसी को ताकत दिखाने की जरूरत नहीं है। ये यात्रा मैं अपनी संतुष्टि के लिए निकाल रहा हूं।

पीएम मोदी ने दी पासवान को श्रद्धांजलि

पीएम नरेंद्र मोदी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं एलजेपी पार्टी के नेता रहे रामविलास पासवान को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी। सोमवार को पीएम मोदी ने ट्विटर संदेश में कहा कि आज मेरे मित्र दिवंगत रामविलास पासवान जी की जयंती है। मुझे उनकी कमी महसूस होती है। वह देश के सबसे अनुभवी सांसद व प्रशासक थे। उन्होंने लिखा कि जन सेवा में उनका योगदान व पिछड़े वर्ग के लोगों के सशक्तिकरण का काम हमेशा याद किया जाएगा।

और पढ़ें
Next Story