Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चिराग पासवान पिता की पहली बरसी क्या उसी बंगले में बना पाएंगे? केंद्र सरकार ने दिया यह दूसरा बड़ा झटका

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने चिराग पासवान को एक और बड़ा झटका दिया है। पहले एलजेपी में बगावत करने वाले पशुपति कुमार पारस को केंद्र में मंत्री बना दिया था। अब दिल्‍ली में पिता राम विलास पासवान के लिए आवंटित बंगले को खाली करने का आदेश दिया। लेकिन चिराग की कुछ और इच्छा है।

Chirag Paswan gets order to vacate bungalow allotted on name of father Ram Vilas Paswan in Delhi Bihar Political News
X

चिराग पासवान

चिराग पासवान (Chirag Paswan) पिछले काफी दिनों से आशीर्वाद यात्रा निकाल कर बिहार (Bihar) की जनता से आशीर्वाद मांग रहे हैं, लेकिन इनकी परेशानियां कम होती हुई नजर नहीं आ रही हैं। चिराग एलजेपी (LJP) में हुई टूट के बाद भी सभी को एक बार फिर से साथ लाने में भी सफल नहीं हो पा रहे हैं। वहीं केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi government of center) ने एलजेपी नेता चिराग पासवान को करीब एक महीने के अंदर दूसरा बड़ा झटका दे दिया है।

इसके पहले केंद्र सरकार द्वारा चिराग पासवान की इच्छा के खिलाफ जाकर उनके चाचा पशुपति पारस को दिवंगत राम विलास पासवान (Late Ram Vilas Paswan) का खाली हुआ मंत्रालय सौंप दिया गया। जोकि चिराग पासवान पार्टी में हुई टूट के लिए चाचा पशुपति को जिम्मेदार ठहराते हैं। अब केंद्र सरकार की ओर से दूसरा झटका उनके पिता के नाम से आवंटित बंगले को (bungalow allotted name of Ram Vilas Paswan) लेकर दिया गया है। इस बंगले में चिराग पासवान ने अपने जीवन के करीब 30 वर्ष गुजारे हैं। आपको बता दें, शहरी विकास मंत्रालय के तहत आने वाले संपदा निदेशालय की तरफ से दिल्ली में 12 जनपथ पर स्थित इस बंगला को खाली करने का आदेश दिया गया है।

यह बंगला रामविलास पासवान के नाम से आवंटित था। वो इसमें करीब तीस वर्ष से अधिक समय तक रहे हैं। उनके निधन के बाद बंगला खाली नहीं कराया गया था। क्योंकि चिराग पासवान स्वयं जमुई से सांसद हैं। इसके अलावा एलजेपी के दिग्गज नेता होने की हैसियत से पूरी उम्मीद थी कि उन्हें केंद्र सरकार में मंत्री बनाया जा सकता है।

हाल के दिनों में जैसे चाचा पशुपति पारस ने पहले पार्टी पर अपना कब्जा जमाया। उसके बाद केंद्रीय मंत्री पद प्राप्त करने में कामयाबी पा गए। साथ ही पारस ने चिराग पासवान को भी किनारे कर दिया। इसके बाद से हर किसी की नजरें उस बंगले पर टिंकी थी कि जिसमें चिराग रह रहे हैं। अब संपदा निदेशालय ने चिराग पासवान को नोटिस भेजा है। इसमें चिराग पासवान से उक्त बंगले को खाली करने के लिए कहा गया है।

इस दिन तक इस बंगले में रहना चाहता था परिवार

वर्तमान में इस बंगले में चिराग पासवान अपनी मां व परिवार के अन्य लोगों के साथ रह रहे हैं। अब इस पर ध्यान देना होगा कि बंगला खाली करने का नोटिस मिलने पर चिराग पासवान अगला कदम क्या उठाएंगे? वहीं मीडियो रिपोर्ट से पता चल रहा है कि चिराग पासवान की इच्छा है कि वह अपने पिता राम विलास पासवान की पहली बरसी तक इसी में रहें। आपको बता दें आठ अक्टूबर को दिवंगत रामविलास पासवान की पहली बरसी है।

और पढ़ें
Next Story