Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना संकट के बीच चमकी बुखार बरपाने लगा कहर, एसकेएमसीएच में कई बच्चे गंभीर हालत में भर्ती

बिहार में कोरोना महामारी के साथ-साथ चमकी बुखार ने भी अपना कहर बरपाना शुरू कर दिया है। इस बीच चमकी बुखार से ग्रस्त कई संदिग्ध बच्चों को मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया है।

chamki bukhar havoc among corona 2 aes confirmed children admit in SKMCH of Muzaffarpur bihar aes news
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार (Bihar) में कोरोना संकट (Corona crisis) के साथ-साथ चमकी बुखार (chamki bukhar) ने भी लोगों पर कहर बरपाना शुरू कर दिया है। चमकी बुखार (chamki Fever) की वजह से स्वास्थ्य विभाग की समस्याएं में बढ़ गई हैं। चिंतित कर देने वाली खबरें मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) जिले से सामने आई हैं। जहां पर तेजी से बढ़ती गर्मी व कोरोना महामारी (Corona epidemic) के बीच चमकी बुखार का कहर शुरू हो गया है। चमकी बुखार के मामले मुजफ्फरपुर जिले के अलग-अलग स्थानों से सामने आए हैं। आसपास के जिलों में तापमान बढ़ने के साथ एक बार फिर चमकी बुखार से पीड़ित बच्चों की संख्या बढ़नी शुरू हो गई है। कुछ दिनों से चमकी बुखार से पीड़ित कई संदिग्ध बच्चों को गंभीर स्थिति में एसकेएमसीएच मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के अनुसार गुरुवार को चमकी बुखार से ग्रस्त 2 और बच्चों में एईएस (AES) की पुष्टि हुई। वहीं एसकेएमसीएच के पीकू वार्ड में इस समय 3 बच्चे भर्ती हैं। इनमें मुजफ्फरपुर जिले से 2 बच्चे और वैशाली जिले के एक बच्चा भर्ती है। जिनका एसकेएमसीएच के पीकू वार्ड में इलाज चल रहा है।

वहीं जिला प्रशासन भी चमकी बुखार को लेकर जागरूकता अभियान ग्रामीण क्षेत्रों में चला रहा है। अधिकारी की जिले में प्रत्येक शनिवार को अपने क्षेत्र में जागरूकता का कार्यक्रम करते हैं। याद रहे इस वर्ष अभी तक 22 बच्चों में एईएस (एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम) की पुष्टि हुई है। जिसमें से एईएस पीड़ित 4 बच्चों की इलाज के दौरान मौत भी हो चुकी है।

Next Story