Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सुशांत मामले में केंद्र ने मानी सीबीआई जांच की अनुशंसा, पटना के आईपीएस अधिकारी को 14 दिनों तक कैद में रहना पड़ेगा

केंद्र सरकार ने सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में बिहार सरकार द्वारा की गई सीबीआई जांच की अनुशंसा मान ली है। दूसरी ओर दुख की खबर ये है कि मुंबई में कोरंटिन किये गये बिहार के आईपीएस विनय तिवारी को 14 दिनों तक कैद में रहना पड़ेगा। बीएमसी ने बिहार पुलिस का उन्हें मुक्त करने का अनुरोध ठुकरा दिया है।

center accepts cbi probe in sushant case Patna ips officer will have to remain in captivity for 14 days
X
सुशांत सिंह राजपूत मामला

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय ने बुधवार को ट्वीट कर बताया कि पटना आजी ने बीएमसी के चीफ को पत्र लिखकर आईपीएस विनय तिवारी को मुंबई में कोरंटिन किये जाने का विरोध किया था। साथ ही उन्होंने आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को कोरंटिन से रिहा करने का अनुरोध किया था। उस अनुरोध को बीएमसी ने ठुकरा दिया है। डीजीपी ने बताया कि बीएमसी ने आईपी के पत्र का जवाब भी पटना पुलिस को भेज दिया है। डीजीपी ने कहा कि बीएमसी के दुर्भाग्यपूर्ण फैसले की वजह से अब हमारे एसपी विनय तिवारी 14 दिनों तक मुंबई में ही कैद रहेंगे।



बिहार सरकार ने किया था अनुरोध

बिहार के भवन निर्माण विभाग मंत्री एवं जदयू नेता अशोक चौधरी ने बुधवार को ट्वीट कर बताया कि केंद्र सरकार ने सुशांत की मौत मामले में बिहार सरकार द्वारा की गई सीबीआई जांच के लिये अनुशंसा मान ली गई है। वहीं उन्होंने बिहार सरकार व सुशांत के सभी फैन्स, जिन्होंने सोशल मीडिया पर सीबीआई जांच की मांग उठाई थी, उन सभी को धन्यवाद दिया। याद रहे बिहार सरकार ने कल सुशांत सिंह राजपूत मामले में सीबीआई से जांच कराने के लिये अनुशंसा केंद्र सरकार को भेजी थी।



सुशांत सिंह राजपूत का शव बीते 14 जून को मुंबई में अपने घर से बदामद हुआ था। इस मामले में मुंबई पुलिस आत्महत्या के एंगल से काम कर रही है। वहीं सुशांत के पिता केके सिंह ने करीब एक माह बाद पटना में इसी मामले को लेकर अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया। इस मामले को लेकर बिहार सरकार ने सुशांत के पिता के अनुरोध पर सीबीआई जांच की अनुशंसा की है।

Next Story