Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Arunachal Pradesh Politics: बिहार में सियासी बयानबाजी जोरों पर, रेणु देवी ने तेज प्रताप यादव को दिया करारा जवाब

अरुणाचल प्रदेश मामले पर राजद नेता तेज प्रताप यादव ने कहा कि बिहार में बहुत जल्दी सरकार गिरने वाली है। वहीं भाजपा नेता एवं बिहार की डिप्टी सीएम रेणु देवी ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश मामले का असर बिहार की एनडीए सरकार पर नहीं होगा।

bjp leader renu devi hit back at tej pratap yadav on arunachal pradesh mla broken case
X

बिहार की डिप्टी सीएम रेणु देवी

अरुणाचल प्रदेश में नीतीश कुमार की पार्टी जदयू के 6 विधायक भाजपा में शामिल हो गये हैं। जिसके बाद से बिहार में सियासी बयानबाजी जोरों पर हैं। इस मामले को लेकर बिहार सीएम एवं जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार की ओर से शुक्रवार को प्रतिक्रिया सामने आई थी। राजद नेता तेजस्वी यादव ने मामले को लेकर बिहार की एनडीए सरकार एवं सत्ताधारी पार्टियों जदयू और भाजपा को निशाने पर लिया है।

तेज प्रताप यादव के बयान के बाद भापजा नेता एवं बिहार की डिप्टी सीएम रेणु देवी ने इशारों-इशारों में राजद नेता तेज प्रताप यादव के खिलाफ पलटवार किया है। अरुणाचल प्रदेश में जदयू के 6 विधायकों के भाजपा में शामिल होने पर रेणू देवी ने कहा कि वो उनका अपना फैसला है। हम उनकी बात नहीं कर सकते। इसका कोई असर बिहार में नहीं पड़ेगा।

अरुणाचल प्रदेश मामले पर राजद नेता तेज प्रताप यादव ने नीतीश कुमार समेत बिहार की एनडीए सरकार पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार की पार्टी का वजूद खत्म हो चुका है। जदयू सब जगह से टूट ही टूट हो रहा है। वहीं तेज प्रताप यादव ने दावा किया कि बिहार में बहुत जल्दी सरकार गिरने वाली है। भाजपा का तो काम है, खा जाना सबको। किसान का मुद्दा जिस तरह चल रहा है। सरकार इसमें फंस चुकी है।

अरुणाचल प्रदेश मामले पर बिहार की डिप्टी सीएम रेणु देवी ने शनिवार को कैबिनेट की बैठक के बाद कहा कि जो गये वो अपने मर्जी से गये हैं। उन्होंने कहा कि उनका (जदयू विधायकों) का मन हो रहा है तो हम क्या कर सकते हैं। रेणु देवी ने कहा कि हमारा लक्ष्य हमारे प्रदेश को विकसित व आत्मनिर्भर बनाने का है।

आपको बता दें, जयदू अध्यक्ष एवं बिहार के सीएम नीतीश कुमार को भाजपा ने झटका देते हुए 6 विधायकों को गुरुवार को अपनी पार्टी में शामिल करा लिया। अरुणाचल प्रदेश में जदयू के 7 विधायक जीतकर आए थे। जो वहां सत्ताधारी भाजपा सरकार का समर्थन कर रहे थे।

Next Story