Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Hathras Case: नंद किशोर यादव बोले- कांग्रेस हाथरस की घटना पर राजनीति चमकाने की घिनौनी कोशिश कर रही

बिहार के पथ निर्माण मंत्री एवं भाजपा नेता नंद किशोर यादव ने कहा कि कांग्रेस अपने कारनामों की वजह से हाशिये पर है। नंद किशोर यादव ने कहा कि कांग्रेस एक बार फिर अपनी फितरत का इस्तेमाल कर जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रही है। साथ ही कांग्रेस हाथरस की घटना पर राजनीति चमकाने की घिनौनी कोशिश कर रही है।

bjp leader nand kishore yadav said that congress is vainly trying to shine politics on the hathras incident
X
भाजपा नेता नंद किशोर यादव ने कहा कि कांग्रेस हाथरस की घटना पर राजनीति चमकाने की घिनौनी कोशिश कर रही है।

बिहार के पथ निर्माण मंत्री एवं भाजपा नेता नंद किशोर यादव ने शुक्रवार को विभिन्न मुद्दों पर हमलावर कांग्रेस पर एक के बाद एक कई ट्वीट कर निशाना साधा है। नंद किशोर यादव ने कहा कि कांग्रेस द्वारा अपनी सियासत चमकाने के लिए हमेशा दलितों-पिछड़ों व किसान-मजदूरों का इस्तेमाल किया गया है। नंद किशोर यादव ने कहा कि देश की जनता ने कांग्रेस को उसके कारनामों के कारण हाशिए पर धकेल चुकी है। तो ऐसी स्थिति में कांग्रेस एक बार फिर कांग्रेस अपनी फितरत का इस्तेमाल कर रही है। कांग्रेस की इस चालबाजी को जनता को समझना होगा।



भाजपा नेता नंद किशोर यादव ने अन्य ट्वीट में कहा कि देश में अब कांग्रेस की भूमिका अगलग्गा के रूप में रह गई है। भाजपा नेता ने कहा कि कांग्रेस के लोग अपना चेहरा चमकाने के लिए कोई भी नुस्खा अपना सकते हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के द्वारा सीएए कानून के खिलाफ हवा दी गई। इसके अलावा कांग्रेसियों द्वारा कृषि सुधार कानून के खिलाफ किसानों को गुमराह करने की कोशिश की गई। अब कांग्रेस यूपी के हाथरस की घटना को लेकर राजनीति चमकाने की घिनौनी कोशिश कर रही है। भाजपा नेता नंद किशोर यादव ने कहा कि कांग्रेस के लोग किसानों का हित नहीं, बल्कि अपने स्वार्थ को साधना चाहते हैं।



भाजपा नेता नंद किशोर यादव ने गुरुवार को यूपी के हाथरस मामले पर ट्वीट कर निंदा जाहिर की थी। उन्होंने कहा कि हाथरस की घटना शर्मनाक है। उसके दोषियों को कड़ी-से-कड़ी सजा मिलेगी। यूपी सरकार इस मामले पर सख्त है। साथ ही एसआईटी का गठन कर मामले की पूरी तफ्तीश करवायी जा रही है। लेकिन, जो लोग इस पर अपनी राजनीति चमकाने का प्रयास कर रहे हैं। वे अपनी संवेदनहीनता का प्रदर्शन कर रहे हैं।




Next Story