Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एसटीईटी की पुनर्परीक्षा का विरोध: चुन्नू सिंह बोले कोरोना काल में परीक्षा सेंटर दूर बनाकर छात्रों के भविष्य से किया जा रहा खिलवाड़

बिहार युवा कांग्रेस एसटीईटी की पुनर्परीक्षा करवाये जाने के सरकार के फैसले पर नाराजगी जाहिर कर रही है। वहीं युवा कांग्रेसी नेता चुन्नू सिंह ने परीक्षा सेंटर गृह जिले से दूर बनाये जाने पर कोरोना काल में छात्रों के जीवन से खिलवाड़ किया जाना बताया है।

bihar youth congress protests against stet revision
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

बिहार युवा कांग्रेस नेताओं ने गुरुवार को ट्वीट कर एसटीईटी की पुनर्परीक्षा करवाये जाने के सरकार के फैसले का पुरजोर विरोध किया है। बिहार युवा कांग्रेसी नेता चुन्नू सिंह उर्फ शशि कुमार ने कहा कि छात्रों की जबरदस्ती परीक्षा ली जा रही है। गृह जिलों से दूर परीक्षा के सेंटर बनाये गये हैं। वहीं चुन्नू सिंह ने कहा कि सरकार द्वारा इस कोरोना महामारी के दौर में छात्रों के जीवन से खिलवाड़ किया जा रहा है। चुन्नू सिंह ने कहा कि एसटीईटी की पुनर्परीक्षा करवाना सरकार की मनसा पर सवाल खड़ा करता है?

बिहार युवा कांग्रेसी नेता अनाम सुल्तान खान अनम ने गुरुवार को ट्वीट के माध्यम से कहा कि बिहार में लॉकडाउन से सिर्फ गरीब और मजदूर वर्ग ही परेशान हुआ है। वहीं उन्होंने कहा कि उसी तरह से एसटीईटी परीक्षा दूसरे जिलों में करवाकर परीक्षा में सिर्फ गरीब छात्र ही परेशान किया जायेगा।



अनाम सुल्तान खान अनम ने अन्य ट्वीट के माध्यम से कहा कि एसटीईटी परीक्षा दिसम्बर वाले को नियोजन में शामिल नहीं करना भी छात्रों के साथ सौतेला व्यवहार को दर्शाता है। आखिर ये सरकार डोमिसाइल नियम के तहत ऑनलाइन बहाली क्यों नहीं लेती है? वहीं उन्होंने कहा कि इसी तरह एसटीईटी पुनर्परीक्षा करवाकर रिजल्ट भी नहीं जारी किया। अनम ने कहा कि जब ऑनलाइन परीक्षा है तो फिर गृह जिला से दूसरे जिले में क्यू करवाई जा रही है। सरकार छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। इसके बाद अनम ने कहा कि जब दूसरे जिला में परीक्षा करवाना था। तो फिर ऑनलाइन परीक्षा की जरूरत ही नहीं है। इसलिये सरकार को ऑनलाइन परीक्षा करवाने का निर्णय नहीं लेना चाहिए।

एसटीईटी परीक्षा को गृह जिला में शामिल करें: युवा कांग्रेस

अनम ने एक और अन्य ट्वीट में कहा कि सरकार सिर्फ परीक्षा लेती है, पर रिजल्ट जारी नहीं करती। क्योंकि परीक्षा करवा करवाकर छात्रों के जीवन को बर्बाद करना चाहती है। अब भाजपा जदयू के इस साठ गांठ की सरकार को छात्र युवा नहीं सहेगा। एसटीईटी परीक्षा को गृह जिला में शामिल करें अन्यथा रद्द करें।




Next Story