Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लालू-राबड़ी के राज में बिहार अंधेरे में था और सड़कें जर्जर थी : सुशील मोदी

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा कि तेज विकास के लिए अच्छी सड़क व प्रचुर बिजली की जरूरत होती है पर लालू यादव और राबड़ी देवी के राज में ये दोनों नदारद थे। बिहार अंधेरे में था व सड़कें जर्जर थीं।

Bihar Assembly Election 2020: सुशील मोदी बोले - लालू प्रसाद की पार्टी में मची है भगदड़, उन्हें पता लग गया विकास की आंधी में लालटेन नहीं आएगी काम
X
सुशील मोदी

बिहार के उप मुख्यमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता विपक्षी पार्टियों राजद और कांग्रेस पर लगातार हमलावर हैं। इसी कड़ी में गुरुवार को ट्वीट कर उन्होंने कहा कि किसी भी राज्य के तेज विकास के लिए अच्छी सड़क और प्रचुर बिजली की जरूरत होती है। लेकिन बिहार में लालू यादव और राबड़ी देवी के राज के दौरान ये दोनों ही चीजें नदारद थे। वहीं सुशील मोदी ने कहा कि बिहार अंधेरे में था और सूबे की सड़कें जर्जर थीं। उन्होंने कहा कि कोई भी बिहार में आना ही नहीं चाहता था। सुशील मोदी ने कहा कि इसलिए पर्यटन सहित सारे उद्योग-धंधे सूबे में चौपट थे। लालू यादव - राबड़ी देवी के राज में बिहार से लाखों लोगों को बेरोजगारी के चलते पलायन करना पड़ा।

डिप्टी सीएम सुशील कुमर मोदी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत अन्य कांग्रेसियों के खिलाफ भी बिना नाम लिये निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जो महापलायन के सियासी गुनहगार थे। वे ही लॉकडाउन के समय दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों की वापसी के लिए 1000 बस भेजने के बड़बोले दावे कर रहे थे। याद रहे बीते मार्च महीने में कोरोना महामारी की वजह से अचानक लगाये गये लॉकडाउन की वजह से देशभर में जगह-जगह प्रवासी मजदूर फंस गये थे। वहीं अन्य राज्यों में फंसे मजदूरों को लेकर बिहार समेत देशभर की सियासत में भुचाल आ गया था। वहीं उसी दौरान कांग्रेस ने अन्य राज्यों में फंसे मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचवाने के लिये 1000 बसों की व्यवस्था करने की बात कही थी।



Next Story