Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार : भोजपुर जिले के तीन घरवां टोला में आजादी के 70 साल बाद भी नहीं है सड़क, सीएम नीतीश कुमार करायें निर्माण

बिहार में भोजपुर जिले के तीन घरवां टोला में आजादी के 70 साल बाद भी कोई सड़क नहीं पहुंची है। यह गांव बनास नदी की दूसरी पार पर बसा है। नदी को पार करने के लिये पुल या नाव भी नहीं है। वर्तमान में नदी उफान पर बह रही है। ऐसे में लोग अपनी जरूरत का सामान लेने के लिये बजार कैसे जायें। इस समस्या को दर्शाता हुआ वीडियो राजद ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है। जिसमें ग्रामीण सीएम नीतीश कुमार से नदी पर पुल निर्माण कराने की मांग कर रहे हैं।

bihar three gharwan tola of bhojpur district does not have a road even after 70 years of independence cm nitish kumar should construct
X
भोजपुर जिले के तीन घरवां टोला की स्थिति

बिहार में भोजपुर जिले के गड़हनी प्रखंड के तीन घरवां टोला में आजादी के 70 साल बीत जाने के बाद भी कोई सड़क नहीं पहुंची है। जानकारी है कि यह गांव बनास नदी की दूसरी पार पर बसा हुआ है। ये लोग बनास नदी पर पुल का निर्माण कराने के लिये दशकों से मांग करते आ रहे हैं। लेकिन वर्तमान में इन लोगों के सामने एक और विकट समस्या उत्पन्न हो गई। क्योंकि सूबे में हर ओर हो रही भारी बारिश की वजह से नदी भी उफान पर बह रही है। ऐसे में नदी पार करके ग्रामीण अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिये बाजार कैसे जायें और आयें। ग्रमाणों को अपनी जरूरत को लेकर यहां से आने जाने के लिये बनास नदी को ही पार करना पड़ता है। ग्रामीणों की इसी समस्या को दर्शाती हुई वीडियो भोजपुर राजद ने सोशल मीडिया पर जारी की है। जिसमें ग्रामीण अपनी समस्या बयां कर रहे हैं।

ग्रामीणों का कहना है कि करीब एक माह पहले हमने भोजपुर जिला प्रशासन को पत्र लिखकर एक नाव की व्यवस्था कराने की मांग की थी। लेकिन अभी तक व्यवस्था नहीं की गई है। उस समय बनास नदी का जल स्तर भी कम था। वहीं वर्तमान में बनास नदी उफान पर बह रही है। अब दिक्कत यह कि ऐसे में लोग अपनी जरूरतों का सामान लेने के लिये बाजार कैसे जायें। ग्रामीणों ने नाव का इंतजाम नहीं किये जाने पर प्रखांड प्रशासन और जिला प्रशासन पर सवाल उठाये हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि क्या प्रशासन किसी हादसे का इंतजार कर रहा है। वहीं लोगों ने स्थानीय प्रतिनिधियों के खिलाफ भी नाराजगी जाहिर की है। ग्रामीणों को स्थानीय प्रतिनिधियों पर भरोसा भी नहीं है कि वे यहां कोई पुल का निर्माण करा देंगे। ऐसे में इन लोगों ने अब सीएम नीतीश कुमार से बनास नदी पर पुल निर्माण कराये जाने की मांग उठाई है।




Next Story