Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

घोड़ी पर चढ़ने से कुछ घंटे पहले दूल्हे की निकली अर्थी, कोरोना की वजह से दो परिवारों पर टूटा दुखों का पहाड़

कोरोना संकट के बीच बिहार के नालंदा से एक दुखद खबर सामने आई है। यहां एक युवक को दुल्हन लाने के लिए घोड़ी पर सवार होना था। लेकिन उससे महज कुछ घंटे पहले युवक की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई।

Bihar Sharif railway station Employee died of corona on wedding day in Sahebganj Jharkhand Nalanda news in hindi
X

प्रतीकात्मक तस्वीर

कोरोना कहर (Corona Havoc) के बीच बिहार (Bihar) में जहां कई घरों के चिराग सदा के लिए बुझ रहे हैं। वहीं कई परिवारों के सपनों को भी कोरोना (Corona) सदा के लिए मिट्टी में मिला रहा है। ऐसा ही दुखद मामला नालंदा (Nalanda) जिले के बिहार शरीफ (Bihar Sharif) से सामने आया है। यहां कोरोना वायरस (Corona virus) ने दो जिंदगियों को सदा के लिए एक होने से पहले ही हमेशा के लिए जुदा कर दिया है। इस घटना से दो परिवारों पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा है। बिहार के नालंदा जिले के बिहार शरीफ में एक रेलवे कर्मचारी (Railway employe) की शादी के महज कुछ घंटों पहले ही कोरोना महामारी की वजह से मौत हो गई।

दो परिवारों में शादी की तैयारियां जोरों पर चल रही थीं। लेकिन शादी से कुछ घंटे पहले ही जैसे दूल्हे की मौत हुई तो दोनों परिवार गम में डूब गये। जानकारी के अनुसार मृतक वीरेन्द्र पासवान बिहार शरीफ रेलवे स्टेशन पर तैनात था। युवक वीरेंद्र पासवान बिहार शरीफ रेलवे स्टेशन पर सिग्नल हेल्पर के पद पर कार्यरत था। वहीं वीरेंद्र पासवान की आज यानि 27 अप्रैल को शादी होनी थी।

वीरेंद्र पासवान झारखंड (Jharkhand) के साहेबगंज का मूल निवासी था। जहां उनके घर में शादी की सारी तैयारियां भी (wedding) पूरी कर ली गई थीं। लेकिन वीरेंद्र पासवान की 27 अप्रैल की सुबह में ही कोरोना संक्रमण की वजह से मौत हो गई। वीरेंद्र पासवान 13 अप्रैल से बीमार थे। वहीं झारखंड के साहेबगंज सदर अस्पताल में कोरोना जांच कराने के बाद कोविड-19 पॉजिटिव पर वो 15 दिन की होम आइसोलेशन पर चले गए थे। जहां मंगलवार की सुबह को उनकी मौत हो गई।

आज होनी थी शादी

वीरेंद्र पासवान की मौत कोरोना से होने की पुष्टि स्टेशन प्रबंधक बिहार शरीफ ने की है। उन्होंने यह भी बताया कि आज ही उसकी शादी होनी थी। उसके घर में शादी का माहौल था। पर शादी माहौल अचानक मातम में बदल गया। वो बीते सप्ताह से बीमार था। इस बीमारी का वो अपने पैतृक गांव साहेबगंज झारखंड में ही इलाज करवा रहा था। जहां आज उसकी मौत हो गई।

घटना पर साथी रेलवे कर्मचारियों ने जताया शोक

जैसे ही घटना की सूचना साथी रेलवे कर्मचारियों को मिली तो वो पूरी तरह से दुखी हो गए। साथ ही उन्होंने घटना पर शोक जताते हुए कहा कि एक अच्छा रेलकर्मी अचानक हम लोगों के बीच से चला गया, जो बेहद दुखदाई है। सबसे खास बात है कि उसकी आज के दिन शादी होनी थी। पर घर से उसकी बारात निकलने के बजाय उसकी अर्थी निकली, जो काफी दर्दनाक घटना है।

Next Story