Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना रिकवरी रेट में बिहार छठे पायदान पर पहुंचा, सबसे आगे राजस्थान

कोरोना ग्रसित 10 राज्यों के रिकवरी रेट में बिहार छठे पायदान पर पहुंच गया है। यहां एक्टिव केस से ज्यादा ठीक होने वाले मरीजों की संख्या है।

कोरोना रिकवरी रेट में बिहार छठे पायदान पर पहुंचा, सबसे आगे राजस्थान
X

देश के लगभग सभी राज्य कोरोना से ग्रसित है। सबसे ज्यादा कोरोना केस महाराष्ट्र में है। वहीं, गुजरात, दिल्ली भी कम केस में शामिल नहीं है। हालांकि बढ़ते संक्रमण के बीच मरीजों के ठीके होने के तदाद लोगों को काफी राहत की सांस दे रही है।

अगर कोरोना प्रभावित 10 राज्यों की बात करें तो रिकवरी रेट में राजस्थान सबसे आगे हैं। वहीं, बिहार छठे पायदान पर पहुंच गया है। राजस्थान में भले ही संक्रमण तेजी से फैल रहा हो, लेकिन यहां संक्रमित मरीजों से ज्यादा ठीक होने वाले मरीजों की संख्या देखने को मिल रही है।

इसके अलावा बिहार में पिछले 10 दिनों में कोरोना के 1890 नए केस मिले। इसमें से 1459 मरीज स्वस्थ हो गए हैं। बिहार का रिकवरी रेट 50.77 है। अब तक कुल 2770 मरीज ठीक हुए हैं। अब 2652 केस एक्टिव है।

तीन मई से पहले बिहार का रिकवरी रेट 54 फीसदी तक पहुंच गया था, लेकिन प्रवासी मजदूरों के आगमन के बाद से रिकवरी रेट नीचे खिसकता चला गया।

10 राज्यों के कोरोना रिकवरी रेट

कोरोना प्रभावित 10 राज्यों के रिकवरी रेट में राजस्थान 74.78, मध्य प्रदेश 68.32, गुजरात 68.29, उत्तर प्रदेश 58.83, तमिलनाडु 52.48, बिहार 50.77, महाराष्ट्र 46.96, कर्नाटक 44, पश्चिम बंगाल 40.28 और सबसे नीचे दिल्ली 37.88 फीसदी हैं।

अगर मौत के आंकड़ों की बात करें तो सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में 3,289, गुजरात में 1313, और तीसरे स्थान पर दिल्ली में 905 है। जबकि बिहार में कोरोना से मरने वालों मरीजों की संख्या सबसे कम 33 है।

Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story