Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जहरीली शराब पीने से 5 लोगों की हुई मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल, तफ्तीश में जुटी पुलिस

बिहार के वैशाली जिले में जहरीली शराब पीने की वजह से पांच लोगों की मौतें होने की खबर सामने आई है। वहीं दो अन्य लोगों की हालत भी गंभीर बताई जा रही है। घटना के बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए हैं।

Bihar prohibition five people died due to drinking poisonous liquor in Vaishali
X

वैशाली शराबकांड के बाद परिजनो के बीच मची चीख-पुकार।

बिहार (Bihar) में जहरीली शराब की वजह से एक बार फिर से बड़ा हादसा हो गया है। इस बार बिहार के वैशाली (Vaishali) जिले में जहरीली शराब लोगों की मौत (Poisonous alcohol kills people) का कारण बनी है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जिले के राघोपुर दियारा क्षेत्र में जहरीली शराब पीने की वजह से पांच लोगों की मौत हो गई। घटना के बाद से पूरे इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। दूसरी ओर इस घटना के सामने आने से बिहार सरकार (Bihar Government) के शराबबंदी (prohibition) कानून की भी पोल खुल गई है। यह जहरीली शराबकांड जुड़ावन पुर थाना इलाके के चक सिंगार पंचायत के वार्ड नंबर 6 स्थित दलित बस्ती का बताया गया है। यहां जहरीली शराब पीने की वजह से अब तक पांच लोग दम तोड़ चुके हैं। इसके अलावा अन्य दो लोगों की स्थिति चिंताजनक बताई जा रही है।

घटना के बाद से ही प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। बताया जा रहा है कि यहां बीते दिन एक स्कूल परिसर में शराब-मछली पार्टी हुई थी। जिसके बाद बुधवार को इसकी वजह से एक के बाद एक तीन लोगों ने दम तोड़ दिया। इसके बाद आज सुबह एनएमसीएच में उपचारत दो लोगों ने दम तोड़ दिया। इसके अलावा एनएमसीएच में ही जहरीली पीने की वजह से बीमार हुए दो अन्य लोगों का उपचार जारी है। घटना के चलते गांव के लोगों में आक्रोश बताया जा रहा है। इस घटना को लेकर गांव के लोगों ने ग्रामीणों ने बुधवार को पुलिस (Police) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी किया था। ग्रामीणों का कहना है कि इस क्षेत्र में जमकर देसी शराब का कारोबार हो रहा है। शिकायत पर भी एक्शन नहीं लिया जाता है। इसका परिणाम ये हुआ कि पांच लोगों की मौत हो गई और दो लोग अभी भी गंभीर रूप से बीमार हैं।

सूचना मिलने पर बुधवार को सदर एसडीपीओ राघव दयाल अपने दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। जहां उन्होंने बताया कि कई लोगों ने शराब पार्टी मनाई थी इस मामले को लेकर जांच- पड़ताल जारी है। आरोपियों के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाएगा। गांव वालों के अनुसार जो लोग शराब पार्टी में शमिल रहे हैं। उनमें करीब सात लोग गंभीर रूप से बीमार हो गए। साथ ही ये लोग चोरी-छिपे अपना इलाज भी करा रहे थे। इन्होंने मामले की सूचना पुलिस को भी नहीं दी थी। इस बीच जब इनमें से बीमार दो लोगों ने दम तोड़ दिया तो पूरे गांव में चीख-पुकार मच गई। इसके बाद पुलिस मौके पहुंची और अन्य पांच बीमार लोगों को खोजा गया। इसके बाद पुलिस ने इन लोगों को बेहतर उपचार के लिए पटना एनएमसीएच भेजा।

गांव के लोगों ने अनुसार मंगलवार की शाम को चक सिंगार के दलित बस्ती स्थित नवसृजित प्राथमिक विद्यालय परिसर में शराब - मछली पार्टी आयोजित हुई। इसमें करीब 10 लोगों ने हिस्सा लिया। जिसके बाद यहीं के निवासी राम नारायण राम के 30 साल के बेटे जितेंद्र नाम व राम जी राम के 28 साल के बेटे शिवकुमार की मौत हो गई। दो लोगों की मौत की सूचना मिलने के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। पुलिस मौके पर पहुंची। गांव के लोगों से पूछताछ की। अन्य पांच बीमार लोग तलाश लिए गए। जिसके बाद पुलिस ने इन लोगों को बेहतर उपचार के लिए पटना एनएमसीएच में भर्ती करा दिया।

बताया जा रहा है कि जहरीली शराब पीने की वजह से जान गंवाने वालों की संख्या 5 तक जा पहुंची है। वहीं पटना एनएमसीएच में उदय राम और विजय राम का उपचार जारी है। लेकिन दोनों की स्थिति नाजुक बनी है। मामले पर वैशाली एसपी मनीष ने कहा कि हर गतिविधि पर पुलिस कड़ी नजर बनाए हुए है। जो लोग इससे जुड़े हैं। उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। वैसे जहरीली शराब पीने की वजह से लोगों की मौत होने की पुष्टि अधिकारिक तौर पर नहीं की गई है। वैसे प्रशासन की ओर से जहरीली शराब ना पीने की वजह से लोगों की मौत होने से इनकार भी नहीं किया गया है। इसके अलावा पोस्टमार्टम और फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट से सब कुछ साफ हो जाएगा। कहा जा रहा है कि इस केस की निगरानी खुद वैशाली एसपी कर कर रहे हैं। दूसरी ओर सदर एसडीपीओ राघव दयाल की अगुवाई में मामले से संबंधित अन्य कार्रवाई जारी है।

Next Story