Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बिहार पंचायत चुनाव में नहीं हो रहा कोरोना प्रोटोकॉल का पालन, राज्य निर्वाचन आयोग ने जताई नाराजगी

बिहार में पंचायत चुनाव 11 चरणों में संपन्न कराए जाने हैं। प्रदेश में अबतक तीन चरणों की वोटिंग पूर्ण हो चुकी है। वहीं चुनाव में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं हो रहा है। इसपर राज्य निर्वाचन आयोग ने सख्त नाराजगी जाहिर की है।

bihar Panchayat Election 2021 corona protocol is not being followed over State Election Commission expressed displeasure
X

प्रतीकात्मक तस्वीर 

बिहार (bihar) में जारी पंचायत चुनावों (bihar Panchayat Election) के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं हो रहा है। पर राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से कड़ा एतराज जताया गया है। राज्य में आयोग के दिशा-निर्देश के मुताबिक 11 चरणों में बिहार पंचायत चुनाव संपन्न कराए जाने हैं। वहीं बिहार में अबतक तीन चरणों के लिए पंचायत चुनाव के दौरान वोटिंग (voting) हो चुकी है।

प्राप्त फीडबैक के मुताबिक आयोग का मानना है कि कोई से फेज के चुनाव के दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया गया है। तीनों फेज की वोटिंग में ज्यादातर पोलिंग स्टेशन पर वोटर्स के चेहरों से मास्क गायब रहे। साथ ही इस दौरान सोशल डिस्टेंस का भी पालन नहीं किया गया।

शुरुआती तीन फेज की वोटिंग में डयूटी पर तैनात ज्यादातर मतदान कर्मचारियों व पुलिसकर्मियों ने भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया। वैसे आयोग की तरफ चुनाव के संबंध में पूर्व से ही कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने के निर्देश तमाम जिलों को दिए गए हैं।

आयोग ने मतदान केंद्रों पर पर सेनेटाइजर का इंतजाम करने, वोटर्स के खड़े होने के लिए घेरा बनाने से लेकर तमाम तरह की एहतियात बरतने के निर्देश दिए थे। पर मतदान केंद्रों पर ऐसी कोई व्यवस्था स्थानीय प्रशासन द्वारा नहीं दिखी। आयोग ने साफ निर्देश दिया है कि चुनावी प्रक्रियाओं के वक्त निर्वाचन गतिविधियों में संलग्न हर व्यक्ति द्वारा अनिवार्य रूप से मास्क या फेसशील्ड का इस्तेमाल किया जाएगा।

चुनावी से संबंधित गतिविधियों से जुड़े हर व्यक्ति की थर्मल स्कैनिंग किया जाएगा और कई स्तरों पर हैंड सेनेटाइजर, साबुन और पानी आदि इंतजाम किए जाएंगे। स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों से निबटने के लिए मेडिकल टीमों का गठन किया जाएगा। मतदान केंद्र पर पीठासीन अधिकारी को एक से लेकर 100 तक का पूर्व मुद्रित टोकन मुहैया कराया जाएगा। पर आयोग के निर्देश पेपर्स में ही सिमट कर रह गए।

यहां भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं हो रहा

इसके अलावा चुनावी सभाओं में भी कोरोना प्रोटोकॉल का पालन प्रत्याशी व उनके समर्थकों द्वारा नहीं किया जा रहा है। जिला निर्वाचन अधिकारी, पंचायत द्वारा अग्रिम रूप से ऐसी जगह को चिन्हित करना है, जिस स्थान पर सभा आयोजित हो सके। वहीं ऐसी चिन्हित जगहों पर मार्कर द्वारा सोशल डिस्टेंसिग के तय मानकों को चिन्हित करने का निर्देश है। पर ये भी खानापूर्ति सिर्फ रह गई है।

बिहार राज्य निर्वाचन आयोग के मुख्य आयुक्त डॉ. दीपक प्रसाद का कहना है कि आयोग के स्तर से कोरोना प्रोटोकॉल से पालन से संबंधित मामलों को जिला निर्वाचन पदाधिकारी (पंचायत) के सामने एक बार फिर रखेगा व इसके सख्ती से पालन सुनिश्चित करने को कहा जाएगा।

Next Story